डॉ प्रियंका को बुरी तरह मारकर उन्हें जला दिया गया #justicefordrpriyanka

0 व्यक्ति ने साइन किए। 15,00,000 हस्ताक्षर जुटाएं!


ना केवल प्रियंका जैसी डॉक्टर बल्कि देश की सभी महिलाओं के लिए राष्ट्र निर्माण में हिस्सा लेना और घर से बाहर निकलना दूभर हो गया है क्योंकि कोई हैवान रास्ते में खुला घूम रहा है। 26 वर्षीय डॉ प्रियंका अपने घर से काम पर जा रहीं थी। आधे रास्ते में उनकी गाड़ी पंचर हो गई जैसा कि रात को 9.15 फोन कर के उन्होने अपनी बहन भव्या को बताया। प्रियंका ने फोन पर कहा कि वहां बहुत सारे ट्रक हैं और अनजान मर्द इसलिए उन्हें डर लग रहा है। भव्या ने उनसे कहा कि वो अपनी गाड़ी वहाँ छोड़कर वापस आ जाएं। कुछ देर बाद जब भाव्या ने उन्हें फोन किया तो फोन बंद था। अगले दिन 28 नवंबर को प्रियंका की बुरी तरह जली हुई लाश एक अंडरब्रिज से बरामद की जाती है।

ये कोई पहली घटना नहीं है, आए दिन हमारे देश में महिलाओं के साथ ऐसी दिल दहला देने वाली घटनाएं होती हैं। मैं उन सबसे अनुरोध करता हूँ जो इस परिस्थिति को बदलना चाहते हैं, प्लीज़ ऐसे खौफ़नाक अपराध के खिलाफ अपनी आवाज़ उठाएं।

#justicefordrpriyanka

#RIPPriyankaReddy

#justiceforworkingwomen

#stopviolenceagainstwomen

#hangthecriminals