बाह ज़िला बनाओ ऑनलाइन हस्ताक्षर अभियान

0 व्यक्ति ने साइन किए। 500 हस्ताक्षर जुटाएं!


उत्तर प्रदेश के आगरा ज़िले की बाह तहसील को ज़िला बनाने की ज़रूरत क्यों?

  1. गाजिअबाद, भदोई और बाह  तहसील को जिला बनाने की शिफारिश आर्यन आयोग ने सत्तर के दशक में की थी जिनमें से बाह को छोड़कर बाकी दोनों तहसील आज जिला हैं।
  2. आर्यन आयोग ने अपनी शिफारिशों में बाह को दस्यु प्रभावित क्षेत्र बताते हुए इसके जिला बनाने की बात कही थी और कहा था कि जिला मुख्यालय बनाने से बाह के विकास के द्वार खुलेंगे
  3. बाह आगरा ज़िला मुख्यालय से बहुत दूर है। कुछ गांवों की दूरी 100 किलोमीटर से भी अधिक है जिसके चलते क्षेत्र उपेक्षा का शिकार रहा है।
  4. बड़ा क्षेत्र होने के चलते यहाँ विशेष स्वास्थ्य सुविधाएँ भी नहीं हैं। हर छोटी मोटी दिक्कत के लिए आगरा भागना पड़ता है जो पलायन का मुख्य कारण भी है। अगर बाह को जिला बनाया गया तो ज़िले स्तर की स्वास्थ्य सुविधाएँ लोगों को आसानी से उपलब्ध होंगी जो इस क्षेत्र की मूलभूत ज़रूरत है।
  5. बाह क्षेत्र यमुना और चम्बल नदी के बीच में बसा हुआ है। TTZ ऐ बाहर होने के चलते यहाँ उद्योग लगाना सुगम हो सकता है। जिला बनाकर इस क्षेत्र में विशेष रूप से उद्योगों को विकसित किया जा सकता है।
  6. बाह क्षेत्र अधिकारियों की पहुँच से लगभग बाहर है। जिससे अपराध आदि यहाँ आम बात है। जिला मुख्यालय बनाये जाने से ज़िले स्तर के अधिकारी यहीं रहेंगे जिससे व्यवस्था अच्छे से चलेगी।

आप अधिक से अधिक लोगों को इस अभियान से जोड़ें जिससे कई दशकों का हमारा सपना साकार हो सके।

धन्यवाद

आपका

घनश्याम भारतीय