दिल्ली की चुनी हुई सरकार को काम करने दें LG साहब

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 1,000 हसताकषर जुटाएं!


दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी के नेताओं को भारी एतिहासिक मतदान के साथ 70 में 67 सीट देकर विधानसभा में भेजा था और सरकार पर भरोषा जताया था लेकिन लेकिन भाजपा ने अपनी हार का बदला लेने के लिए दिल्ली की जनता को परेशान करना शुरू कर दिया जिसका माध्यम आपको पता ही है कौन है ? 

दिल्ली की चुनी हुई सरकार के हर फैसले पर उप राज्यपाल जी के माध्यम से अडचन डाली गयी तथा अधिकांश प्रस्तावों को पास नही करने दिया गया तथा फिर उन्ही मुद्दों पर भाजपा ने अपनी राजनीति शुरू कर दी |

दिल्ली की चुनी हुई सरकार के अधिकारों को न्यायालय के माध्यम से भी कम करवा दिया गया (ये अप्रत्यक्ष है) जिसके बाद से उप राज्यपाल को दिल्ली का प्रशासनीक प्रमुख घोषित कर दिया गया किन्तु फिर भी कोई काम नही हुआ | 

चुनी हुई सरकार जोकि जनता के प्रतिनिधि के रूप में कार्य करने के लिए बाध्य है , उसके हर फैसले को रोका जाने लगा, अधिकारियो को सरकार का साथ देने पर प्रताड़ित किया जाने लगा, विधायकों पर फर्जी केस किये जाने लगे, सरकार को बदनाम किया जाने लगा, ACB जोकि 25 साल से दिल्ली सरकार के अधीन थी उसे भी छीन लिया गया, इतने भारी बहुमत के बाद भी मनचाहे अफसर नही दिए, फाइल्स उठा ली गयी, सीबीआई रेड करवाई गयी, मुख्यमंत्री , उप मुख्यमंत्री , स्वास्थ्य मंत्री पर छापे मरवाए गये |

अब हम सभी को समझना चाहिए की किस तरह भाजपा दिल्ली में LG के माध्यम से चुनी हुई सरकार को प्रताड़ित कर रही है जिससे की सीधा सीधा नुक्सान जनता को उठाना पड़ रहा है |

जनता को बेवकूफ बनाया जा रहा है, और जनता ख़ुशी से बन रही है तथा अपने चुने हुए प्रतिनिधियों को कोस रही है। बेवकूफ जनता ये नही समझ रही है कि तुम्हारे ही गले को दबाया जा रहा है, तुमने जिसे काम करने भेजा था, उसके साथ ये व्यवस्था (सिस्टम) क्या खेल कर रही है। इसका शिकार तुम ही होने वाले हो। भाजपा और कांग्रेस की व्यवस्था ही उस सिस्टम की जनक है।

अगर आम आदमी पार्टी खत्म हो जाती है या सरकार गिर भी जाती है तो आप ही का नुकसान है क्योंकि आप जरा खुद सोचिए कि पूरी पॉवर वाले UP, राजस्थान, हरियाणा वाले मुख्यमंत्री भी कुछ नही कर पा रहे हैं। वैसा ही एक और नमूना आपको यहाँ पकड़ा दिया जायेगा जो बिजली, पानी, महंगा करेगा। हर साल दाम बढ़ेंगे और सत्ता का दुरूपयोग सबसे ज्यादा।

ऐसे में जनता को सोचने-समझने और सही राय बनाने की ज़रूरत है।

अतः आइये हम सब एक साथ ज्यादा से ज्यादा संख्या में जुड़ें और माननीय LG साहब से अपील करें कि -  कृपया हम दिल्ली वालों के साथ ऐसा ना करें हमारी चुनी हुई सरकार को कार्य करने दें, लोकतंत्र को सही से चलने दें, उनके अधिकारों को ना दबाएँ |   

आपका साथ आवश्यक है