पुरानी पेंशन बहाल करें...

पुरानी पेंशन बहाल करें...

0 व्यक्ति ने साइन किए। 1,500 हस्ताक्षर जुटाएं!
1,500 साइन के बाद इस पेटीशन को स्थानीय मीडिया द्वारा कवर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!

Ripunjay Singh ने उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित करके ये पेटीशन शुरू किया

सेवा में,

      मुख्यमंत्री महोदय

उ.प्र.सरकार लखनऊ

श्रीमान,

सविनय निवेदन है कि हम सब पेंशनविहीन कर्मचारी आपसे अपने बुढ़ापे का सहारा पुरानी पेंशन बहाली की उम्मीद करते हैं क्योंकि जब आप सांसद थे तो हम पेंशनविहीन कर्मचारियों के हित को देखते हुये आपने ही तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी को पत्र लिखा था और पत्र में स्पष्ट था कि जो कर्मचारी अपने जीवन के महत्वपूर्ण तीस से पैंतीस वर्ष सरकार की सेवा देश की सेवा में लगा देते है उन्हें साठ साल के बाद रिटायर्ड कर दिया जाता है वो भी बिना पेंशन के बुढ़ापे में वे अपना जीवन कैसे निर्वाह करेंगे तब तो उनका शरीर भी इतना मजबूत नहीं रहता कि वो मेहनत मजदूरी करके अपने उदरपूर्ति कर लें और बुढ़ापा बीमारियों का घर होता है तब कैसे अपना इलाज करा पायेंगे ये सब बातें आपने अपने पत्र में कहीं थी आज आप प्रदेश के मुखिया हैं फिर उस पत्र का संज्ञान क्यों नहीं ले रहे हैंं बाजार आधारित nps तो कर्मचारी के हित में नहींं हैं।

            अतः आप से विनम्र निवेदन है कर्मचारियों के बुढ़ापे को पुरानी पेंशन बहाल कर आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनायें तो आपकी महान कृपा होगी।

                                           प्रार्थी

                              समस्त पेंशनविहीन साथी

                                        उत्तर प्रदेश

0 व्यक्ति ने साइन किए। 1,500 हस्ताक्षर जुटाएं!
1,500 साइन के बाद इस पेटीशन को स्थानीय मीडिया द्वारा कवर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!