हम जातीय आरक्षण का विरोध करते हैं

0 व्यक्ति ने साइन किए। 2,500 हस्ताक्षर जुटाएं!


जातीय आरक्षण देश के लिए किसी ज़हर से कम नहीं है, यह एक बहुत बड़ा अन्याय है जो खुले आम हमारे देश में होरहा है। सच तो यह है कि इसी आरक्षण की वजह से राजनीति भी दूषित हो रही है, वहीं युवाओं के अंदर नफरत का जहर भी घोल रहा है ये अरक्षण।

यह न्याय और अन्याय की लड़ाई है, हमें अपने देश हित में इस लड़ाई को लड़ना ही होगा, फिर नतीजा चाहे कुछ भी हो।

इस लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए पेटिशन पर हस्ताक्षर करते हुए अपना योगदान दे।

जय हिन्द