Imperialist forces are using aryan theory to divide us, we all r one

0 have signed. Let’s get to 100!


अंग्रेजों द्वारा लाई गई आर्यन थियोरी भारतीयों को आपस मे लड़ाने की एक साजिश थी जिससे कि वो हम पर राज कर सके। हमे छेत्रवाद के नाम पर बांट सकें जबकि आर्यन कोई रेस नही है वो सिर्फ एक सब्द है जोकि हिंदुस्तानी भलमानस के लिए इस्तेमाल करते थे, जाती तो पूरे भारतीयों की एक ही है उसके बाद 365 ज्ञातियाँ थी हमारे यहां जोकि अपने अपने छेत्र के ज्ञाता थे जिन्हें अंग्रेजों ने जाती का नाम दिया और हमें छोटी बड़ी जाती में बांट दिया। हमें अपने दुश्मन को साफ साफ पहचानना चाहिए कि किस तरह से आज भी वो देश के बाहर बैठकर सिनेमा और टीवी के जरिये हमें बांटने का काम कर रहा है जिससे उसकी सत्ता को यहां हिंदुस्तान मे उसकी कठपुतलियां चलाती रहें, हम ऐसे सीरियल को विरोध करते हैं बहिष्कार करते हैं जोकि समाज और देश को तोड़ने का काम करता है।



Today: Pratap is counting on you

Pratap Singh needs your help with “Yuva kranti: Imperialist forces are using aryan theory to divide us, we all r one”. Join Pratap and 12 supporters today.