Decision Maker Response

Supriya Sule’s response

Dec 3, 2019 — मैं तरुण के पिताजी और उनकी पेटीशन का समर्थन करने वाले 70,000 लोगों को बताना चाहती हूँ कि मैंने तरुण को ढूंढने के लिए इस मुद्दे को लोकसभा में उठाया है। मैंने केंद्र सरकार से निवेदन किया है कि इस केस का तुरंत संज्ञान लिया जाए और ठोस कदम उठाए जाएं ताकि तरुण अपने परिवार से दुबारा मिल सके।
3 दिसंबर को लोकसभा के प्रश्नकाल के दौरान मैंने तरुण के लापता होने का मुद्दा गृह राज्य मंत्री, श्री किशन रेड्डी जी के सामने रखा। मैंने सदन को सूचित किया कि तरुण ऑटिस्टिक है और वो बड़ी मुश्किल से देख और बोल पाता है। मैंने उनसे कहा कि तरुण हम सबका है और सरकार को तुरंत उसे ढूंढने के लिए कदम उठाना चाहिए।
गृह राज्य मंत्री जी ने मेरी बात का संज्ञान लिया और कहा, “सरकार के तरफ़ से जो भी मदद की जा सकती है वो ज़रूर वो करेंगे।”