School fees waiver

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


श्री मान,
जैसा कि अभी पूरे देश में लाक्डाउन है तथा सभी व्यापारिक प्रतिस्थान  बंद हैं जिसकी वजह से सभी व्यापारियों को कोई आमदनी नहीं हो रही है इसके अलावा सरकार ने सभी व्यापारियों और दुकानदारो को अपने स्टाफ़ को सैलरी देने के आदेश दिए हैं इसके अलावा व्यापारियों एवं दुकानदारो को सरकार की तरफ़ से किसी भी प्रकार की आर्थिक सहायता नहीं मिल पायी हैं
सभी व्यापारी लोग वैसे ही पेमेंट को लेकर काफ़ी परेशान हैं यहाँ तक की दुकानो का किराया ,बैंक की किस्तें, बिजली का बिल ,घर का ख़र्च , स्टाफ़ की सैलरी सभी खर्चे नियमित रूप से लागू हैं ऐसी स्थती में स्कूल अपने स्टाफ़ को सैलरी देने के लिए फ़ीस की डिमांड कर रहे हैं | जब सरकार के आदेश के अनुसार सभी व्यापारियों को अपने कर्मचारियों को बिना किसी आय के अपने स्तर पर सैलरी देनी है तो यही नियम स्कूल  संस्थाओं पर भी लागू होना चाहिए।
असम ,दिल्ली और हरियाणा सरकार ने स्कूल फ़ीस में राहत प्रदान की है जिसमें असम सरकार ने स्कूल की फ़ीस 50% कर दी है।
इस लाक्डाउन की स्तिथि में जहां किसी भी प्रकार की कोई आमदनी नहीं हो रही है हम हमारी राजस्थान सरकार से स्कूल फ़ीस में रियायत की उम्मीद करते हैं जिससे कि आम जनता को कुछ राहत मिल सके।

धन्यवाद

प्रार्थी,
अभिभावक