#JusticeForNeelamMeena #CampusForNITUK #InvestInUttarakhand #DestinationUttarakhand

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


राष्टीय प्रौद्योगिकी संस्थान  8 वर्ष पहले  ही स्थापित हो चुकी।  किंतु एनआईटी की अब तक अपनी ईट भी नहीं रखी गई।

 जेईई की कठिन परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद ,यहां छात्रों को अपनी पढ़ाई करने के लिए भी जान की कुर्बानी देनी पड़े  तो इससे बड़ी और क्या विडंबना होगी ।

कैम्पस के लिए  लगातार   बस यहाँ केवल वादे किए  जा रहे और   हम इन वचनो के बल पर अपने प्राणो की आहूति देते रहे आ रहे। क्या करें उन शिक्षाओं का जो किसी की रक्षा के  वजाय उसके बलिदान की भेंट देनी पड़े।

 इस सनसनी घटना के बाद छात्रों ने अपनी दैनिक पढ़ाई को द्वितीय स्थान देते हुए प्रथम स्थान पर अपने अधिकारों  के लिए आवाज उठाना सही समझा ।प्रातः काल से ही सब एकत्रित अपने इस फैसले पर कायम की शायद अब तो सोए हुए प्रशासन की नींद भंग हो जाए। देश के नेशनल वैल्यू रखने वाली एन०आई०टी० की बदहाली पर कुछ नजर डाली जाए पिछले 8 वर्ष से प्रतिवर्ष जहां सैकड़ों साथी भविष्य उज्जवल का सपना लेकर आते हैं किंतु यहां का दृश्य कुछ और ही है अस्थाई केंपस के ना होने के कारण आए दिन होने वाली दिल दहलाने वाली घटनाओं को देख कर कोई भी विद्यार्थी निडर होकर तत्परता से अध्ययन कैसे कर पाएगा । ये सारे कार्यकलाप राजनेताओं की उदासीनता को दर्शाती है।



आज — Shadabrezasr आप पर भरोसा कर रहे हैं

Shadabrezasr SHADAB से "Safety: #JusticeForNeelamMeena #CampusForNITUK #InvestInUttarakhand #DestinationUttarakhand" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Shadabrezasr और 9 और समर्थक आज से जुड़ें।