I want my country's daughters feel safe.

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


हमारे देश भारत में महिलाओं के साथ दुष्कर्म दिन प्रति बड़ते जा रहे हैं। अगर इस पर रोक नहीं लगाई गई तो इसे बढ़ावा मिलता रहेगा। न्याय करना, और समाधान निकालना तो सरकार के हाथो में है। जब दूर प्रदेश जाकर तरह तरह के नए कार्य किए जा रहे हैं तो इस बारे में क्यूं कुछ नहीं किया जा रहा है। क्या यह सरकार का धर्म नहीं की वह विकास के साथ महिला सुरक्षा पर भी ध्यान दे? क्या कड़े कानून नहीं बन सकते? क्या भारत मां की बेटियां कभी सुरक्षित नहीं होंगी ? ऐसे कई सवाल मेरे ही नहीं भारत में रहने वाली हर उस नारी के अंदर आज चल रहे हैं। इनका जवाब हमें चाहिए।