Petition Closed

FOR KIND ATTENTION TOWARDS IMPROVEMENT IN CONDITION OF BHU

This petition had 55 supporters


श्री नरेन्द्र मोदी                                                                             दिनांक : 21.02.2017

प्रधानमंत्री,

भारत सरकार

 

श्री प्रकाश जावेडकर  

मानव संशाधन विकास मंत्री ,

भारत सरकार

 

विषय : BHU  की वर्तमान स्थिति के  सन्दर्भ में सुधार  हेतु

 

1-आज BHU में employee कोटा 15% अलग से हैं,ऐसा क्यों है?? इस मुद्दे पर उनका तर्क होता है कि ये उस 100% में include नहीं है, अरे भाई क्लास , and other resources तो सीमित है,न। लालजी सिंह के समय ये कोटा 10 से 15% किया गया, उससे भी पहले 7.5% था ये। इसके लिए भी UGC के NAC टीम के सामने और अन्य जगह आवाज़ उठाई कुछ नहीं हो पाया। एक example देता हूं BHU के LL.M. Course में Gen. Category का कटऑफ 245-250 जाता है, और employee कोटा का कटऑफ 25-30 नंबर जाता है, सोचिये जरा अन्य आरक्षण के पीछे तो सामाजिक न्याय की अवधारणा हैं, इसके पीछे तो सिर्फ कपट की अवधारणा हैं।

2-BHU में छात्रो और छात्राओं के लिए हॉस्टल के अलग अलग नियम है , क्या सिखा रहे हैं उनको की दोनों बराबर नहीं हैं ,हर विभाग के पास रुपये का Unutilized fund पड़ा हुआ है , उन विभाग प्रमुखों से भी जवाब तलब कीजिये , कई प्रोफेसर क्लास लेने नहीं आते हैं , कुछ आते हैं तो  कुछ भी पढ़ा के चले जाते हैं उनपर भी जवाब तलब हो|  सभी अध्यपको , प्राध्यापको  के लिए भी कोई नियमित परीक्षा होनी चाहिए जिससे ये पता चल सके की वर्तमान में वह अपने विषय से कितने जुड़े हुए हैं , PASSING OUT बैच से फीडबैक भरने का प्रावधान होना चाहिए , उसके कुछ मानक तय कीजिये जैसे , नियमित क्लास लेना , विषय का ज्ञान (TECHNICAL KNOWLEDGE , APPLIED KKNOWLEDGE , CURRENT DAY TO DAY UPDATE ABOUT SUBJECT THOSE ARE EVER CHANING LIKE MANAGEMENT , ECONOMICS , MEDICAL SCIENCE , HUMANITIES ,   WROKSHOPS , CONFERENCES , EXCHAMNGE PROGRAMS WITH OTHER INDIAN UNIVERSITY ETC ETC. ) , PASSING OUT  विद्यार्थी बिना किसिस भय के मुक्त रूप से FEEDBACK  दे सकेंगे वर्तमान विद्यार्थ तो कई दबावों में आ कर पूर्ण रूप से सही FEEDBACK दे सकेंगे |

BHU  में सभी छात्र एवं छात्राओं के लिए एक से नियम होने चाहिए , यदि हम चाहते हैं की विश्विद्यालय का हर एक विभाग अपने उच्चतम को प्राप्त करे , तो हमको माहौल भी वैसा ही देना होगा , जैसा की IIT , IIMS AND IISC  में है | विश्विद्यलय में  ARTS FACULTY एवं अन्य  Faculties जहा placment की facilityनहीं है के छात्रो के  भविष्य के लिए उर्जा का सही उपयोग हो , विश्विद्याके प्रशाशन को छात्रो के स्वयं सहायता समूह बनाकर उनको प्रतियोगी परीक्षाओ की सामूहिक तयारी के लिए प्रेरित एवं संसाधन मुहैया करने चाहिए बजाय इसके  की पुस्तकालय की अवधी को घटा दिया जाये |

3- मालवीय जी खुद छात्रों के साथ छात्रावास में रहते थे, खुद साथ खाते थे।उनका आचरण एक आदर्श प्रस्तुत करता था,कहा गयी आज वो भावना जो छात्रों के साथ एक अघ्यापक को अभिभावक के रूप में प्रतिबिम्बित करती थी। मालवीय जी व्यवहार कैसा था, और आज के प्रोफेसरों का व्यवहार कैसा है।  सभी प्रोफेसर अपने कक्षों में AC लगवा रहे हैं , जिसमे  जबकि BHU   के किसी भी छात्रवास में वाशिंग मशीन विश्विद्यालय ने मुहैया नहीं करायी है , कुछ एक छात्रवासों में हैं वह भी जो भूतपूर्व छात्र हैं उन्होंने अपने जूनियर्स को स्मृति स्वरुप उपहार में दी है | इन उपहारों में से भी कुछ एक छात्रावास प्रमुखों के निजी घरो में लगी हैं | श्रीमान   25000 छात्रो के आवासीय परिसर में छात्रो को वाशिंग मशीन देना , हर छात्रवास में इन्टरनेट देना आज कल  मुलभुत जरुरत है ,  वर्तमान में खेल कूद के लिए परिसरों के देख रेख और नवनिर्माण का किया गया कार्य सराहनीय है और इसी प्रकार छात्रवासों  और परिसर में अन्य सुविधाओ की भी व्यवस्था की जाये जैसे की IITs and IIMs me परिसर के अन्दर ही 24*7 खान पान की दुकाने खुली रहती हैं तो वैसे ही BHU में भी व्यवस्था की जाए ताकि विद्यार्थी रात में परिसर के बाहर  जाने की जरुरत ही न समझे और विश्विद्यालय की एक अनुशाशन का मुद्दा लगभग मुक्त हो जायेगा |

4- महोदय , BHU  में आधुनिक BIO wastage gas  utilization plant  के निर्माण की आवश्यकता है , TATA INSTITUTE OF SOCIAL SCIENCE  में एक ऐसा ही संयत्र लगा है जो छात्रवास के बचे हुए कहने , सब्जी के पत्तो का उपयोग करके बायोगैस बनता है जो की वापस छात्रवास में खाना बनाने के काम आती है | महोदय इसी प्रकार गोबर गैस प्लांट और LEAVE SHREDER  के द्वारा जैविक खाद को भी BHU खुद बना कर के उपयोग कर सकता है |

 

महोदय , यह पत्र मई िविश्वविद्यालय के  सभी छात्र  एवं छात्राओं  की ट्राफ़ से लिख रहा हूँ , विश्वविद्यालय के भुत्प्पोर्व छात्र होने के नाते नकारात्मक ख़बरें अत्यंत कष्टदायक एवं असहनीय है और हम सब आपसे करबद्ध निवेदन कर्ता हूँ की विश्विदयालय के मामले को गंभीरता से लें लगातार हो रही नकारात्मक गतिविधियों से हम पूर्व छात्र भयभीत हैं की विश्विद्यालय कहीं फिर सी जातिवाद गुटबाजी के काले समय में वापस न चला जाये | पूर्व छात्र होने के नाते मई आपको यकीन दिलाता हूँ की यदि मुझसे किसी प्रकार के सहयोग की आवश्यकता होगी तो  मै तत्पर रूप से  BHU  के उत्थान और देशनिर्माण में भारत सरकार का सदैव सहयोगी रहूँगा |

 

 

 

भवदीय

 

 

श्रीनिधि मिश्र (MBA BATCH 2010-12)



 

 



Today: srnidhi is counting on you

srnidhi mishra needs your help with “PRIME MINISTER OF INDIA : FOR KIND ATTENTION TOWARDS IMPROVEMENT IN CONDITION OF BHU”. Join srnidhi and 54 supporters today.