एससी एसटी अत्याचार संशोधन अधिनियम, 2018 वापिस लिया जावें।

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


झूठे SC/ST Act के अंतर्गत दर्ज एफआईआर से भविष्य में होने वाले दूरगामी परिणाम...

■� यदि आप डॉक्टर है या केमिस्ट है ,अपना हॉस्पिटल या क्लिनिक या केमिस्ट की शॉप चलाते है ,आप पूरी ईमानदारी से अपना फर्ज निभाते है ,कोई ST/SC का व्यक्ति मरीज बनकर आये और कोई बात पर झगड़ा करे और फिर समझौते के नाम पर मोटी रकम वसूले और यदि आप न दे पाओ तो वह sc/st एक्ट में झूठा केस दर्ज करवाकर आपको जेल भिजवा देगा, और आप जाँच होने तक जेल में सड़ोगे, अग्रिम जमानत भी नहीं मिल सकती है।
★★★★★★विचार करें

■ �यदि आप अपना कॉलेज या स्कूल चलाते है और SC/ST के छात्र के कम नंबर हो जाये या किसी छोटी बात पर HOT talk हो जाए ..और वह छात्र आप पर SC/ST एक्ट के तहत फर्जी एफआईआर करा दे ..तो आपको जाँच पूरी होने तक जेल, अग्रिम जमानत की तो सोचिये ही मत।
★★★★★★विचार करें

■ �यदि आप बिज़नेस मैन हैं या व्यापारी या दुकानदार अगर कोई वर्कर SC/ST वर्ग का व्यक्ति आपके पास नौकरी कर रहा है, आप ने उसके काम न करने की वजह से निकाल दिया ..वह आपको sc/st एक्ट के अंतर्गत झूठा केस दर्ज करा दे तो आप तुरंत हवालात में, अग्रिम जमानत मिलने का कोई प्रावधान ही नहीं है।
★★★★★★विचार करें

■ �यदि आप विधायक या कोई नेता है यदि कोई sc/st का व्यक्ति आपके पास कार्य के लिए आये आप किसी कारण वह कार्य नही करा पाए तो वह आपसे नाराज होकर आप पर झूठा sc/st एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करवा सकता है। आप की सारी नेतागिरी जाँच पूरी होने तक हवालात में निकल जायेगी और आप अग्रिम जमानत भी नहीं ले सकते।
★★★★★★विचार करें

■ �यदि आप मकान मालिक है ,किसी sc/st वर्ग के व्यक्ति को किरायेदार रखते है ,यदि आप अपना मकान या दुकान अपनी निजी आवश्यकता के लिए खाली करवाना चाहते है यदि वह खाली न करना चाहे आप कुछ नही कर सकते आप पर झूठा sc/st एक्ट में मामला दर्ज करवा दिया तो आपको अपना मकान छोड़ जांच पूरी होने तक जेल में रहना होगा, अग्रिम जमानत का कोई चांस नही।
★★★★★★विचार करें

■ �यदि आप किसान है आपका खेत आपने किसी sc/st वर्ग के व्यक्ति को खेती के लिए किराए पर दिया है तो यदि वह आपके खेत पर कब्जा करले आप कुछ नही कर सकते आपको sc/st एक्ट के झूठे केस में फॅसा सकता है, और आपको परिवार से दूर जेल में जांच पूरी होने तक सड़ना पड़ेगा, अग्रिम जमानत की तो सोचना भी मत।
★★★★★★विचार करें


■ �आप किसी सरकारी / निजी कंपनी में अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। आपके under में sc/st वर्ग का व्यक्ति नौकरी कर रहा है वह अपनी मनमानी करता है तो आप उससे कुछ कह नहीं सकते अगर किसी बात पर वाद विवाद हुआ तो वह आप पर sc/st एक्ट में झूठा केस दर्ज करवा कर आपको जेल भिजवा सकता है, और जांच पूरी होने तक आपको जमानत नहीं मिल सकती।
★★★★★★विचार करें

■इसलिए विचार करे ,जीना मुश्किल हो जाएगा ..आपका आपके बच्चों का ...



आज — Ibrahim आप पर भरोसा कर रहे हैं

Ibrahim Bohra से "Prime Minister of India: एससी एसटी अत्याचार संशोधन अधिनियम वापिस लिया जावें।" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Ibrahim और 32 और समर्थक आज से जुड़ें।