(Baluwakote GramShabha) Time for change let's be the part of Change.

0 have signed. Let’s get to 100!


Introduction:-Baluwakot is a Village in Dharchula Block in Pithoragarh District of Uttarakhand State, India. It is located 37 KM towards North from District head quarters Pithoragarh. 22 KM from Dharchula Dehat. 278 KM from State capital Dehradun 

Baluwakot Pin code is 262576 and postal head office is Baluwakote . 

Payya Pauri ( 4 KM ) , Chharchhum ( 5 KM ) , Ram Toli ( 6 KM ) , Dunga Toli ( 6 KM ) , Toli ( 6 KM ) are the nearby Villages to Baluwakot. Baluwakot is surrounded by Dharchula Block towards North , Didihat Block towards west , Munakot Block towards South , Munsyari Block towards North.

Baluwakot 2011 Census Details

Baluwakot Local Language is Hindi,Nepali,kumaoni. Baluwakot Village Total population is 5455 and number of houses are 1225. Female Population is 51.2%. Village literacy rate is 70.7% and the Female Literacy rate is 32.2%. 

Almost all the people of the villages are illiterate mostly women now the problems arises how they survive for their living as we all know that former Prime Minister Miss. Indra Ghandhi ji has taken the responsibility of uttarakhnd backwardness and illiteracy and following this former Prime Minister Mr. Devi Godha Ji has made this state seperate so that it may develop rapidly but seeing to Baluwakote in this era is a Question mark.

Road ):-Baluwakote being as a Border area the conditions of the roads are misery atleast being as a Border area as well as the route for Kailash Mansarovar goverment should work on road but nothing people got instead of disappointment:

-----लोग दूर पहाड़ियों में रहते है जो कि मुख्य रोड से दूर है, वहाँ जाने के लिए कुछ सकडे रास्ते है जो कि वहाँ रहने वाले लोगो ने खुद बनाये है, अभी भी बहुत से गाँव ऐसे है जहाँ तक कच्ची सड़के भी नही पहुची, ये दुर्भाग्य है उनलोगों का की वहाँ के लोगो को कोई ऐसा नेतृत्व नही मिला जो सबके हित के लिए सोचे।

दिक्कत तब आती है जब गाँव में किसी माँ बहन को प्रसव-पीड़ा हो, किसी बुजुर्ग को कोई बीमारी हो, किसी माता, बहन,भाई को काम या घास काटते समय चोट आये तब उन्हें तुरंत अस्पताल जाना हो तो कैसे पहुचाये? लोगों को डोली का इंतज़ाम करना पड़ता है फिर कुछ लोग अपनी गति के हिसाब से पीड़ित को रोड तक पहुचने का प्रयास करते है कुछ सफल होते है मगर कुछ लोगो समय से दवा न मिकने के कारण या ले जाने में आई दिक्कत के कारण आपनी जान गवा बैठते है। जो कि वहाँ पे सालो से राज़ कर कर रही सरकार के लिए धिक्कर की बात है।

Agriculture/Irrigation/Forest/Water:-बात करे अब अगर खेती की तो शायद ही कोई ऐसा हो जो पहाड़ के लोगो के बराबर मेहनती हो यहाँ के लोग दिन-रात मेहनत करते है खेती करते है मगर जितनी मेहनत होती है उनके द्वारा उतना उसका फल उन्हें मिल नही पाता, इसका सबसे बड़ा कारण ये है पहला की पानी की दिक्कत दूसरा जंगली जानवरों का जो अगर खेती हो भी री है तो रात को आके खत्म/खा देते है मगर फिर भी लोग मेहनत नही छोड़ते जो कि तारीफ की बात है  कुछ गाँव में कुछ फसले बहुत अच्ची मात्रा में होती है मगर यातायात ओर सही दाम न मिकने के कारण वो बेकार चली जाती है अगर सरकार इन्हें प्रोशाहीत करे और इनकी उगाई फसल को एक अच्छी कीमत मिले तो लोगो की कुछ आमदनी भी हो जाती और लोगो को आपना गाँव छोड़ शाहर भी नही आना पड़ता।

 पानी:-कुछ जगह ऐसीं है जहाँ सदा बाहर पानी है मगर कुछ गाँव ऐसे है जहाँ गर्मियों में पानी पीने को भी नही मिल पाता इसका मतलब ये नही की पानी का स्रोत नही है, ऐसा नही है, पानी के स्रोत भरपूर मात्रा में है मगर सरकार ओर सरकारी कर्मचारियों ने उसे सही उपयोग में नही लिया है। इसमें पूरी कमी सरकार की ही नही है लोगो की भी है उन्हीने इसको खुद से भी नही समझा। अगर किसी चीज़ का स्रोत है आपके पास तो उसका उपयोग करे दुर्पयोग करेगे तो पानी जैसी चीज के लिए भी पहाड़ में दिक्कत तो होगी।

Hospital:-एक गमबीर समष्या जिस ग्रामसभा मैं सात-हजार से ऊपर ग्रामवासी हो उस पूरे इलाके में एक भी अस्पताल नही। एक भी ऐसा अस्पताल जहाँ ठीक-ठाक से इलाज हो सके, सोचने वाली बात है अगर कभी किसी भी आपके आपने को तुरंत इलाज़ की जरूरत पड़ी तो क्या आप गाड़ी बुक कर पिथौरागढ़ जायेगे? इमरजेंसी मरीज़ की जान जा सकती है और जाति भी है। आइये मिलके एक आवाज़ उठाइये इस समष्या को समझे और इसका निवारण निकलने हेतु एक प्रयास करे। ताकि किसी भी आपने भाई-बंदु को आगे दिक्कत न हो।

Pollution/Education:-बलुवाकोट वादियो में बसा एक सुन्दर की ग्रामसभा है जहाँ से हसीन काली नदी गुज़रती है बरसात के समय यहाँ मैं एक सुंदर सा झरना भी देखने को मिलता है, व्योपार ओर पर्यटन के लिए ये जगह अच्ची है। मगर पिछड़ा इलाका होने के कारण अभी तक ये ना पर्यटक स्थाल बन पाया ना ही यहाँ के बेरोज़गारों को व्योपार का अवसर मिला। मगर कहते है देर से आते है मगर दुरुस्त आते है इसलिए कुछ संगठन है जो इसपे कार्य करने हेतु कार्यवर्त है। 

आइए मिलके एक नए बलवकोट का नाम करे लोगो को जागरूक करे, बेहतर शिक्षा दे, पलायन को रोके, स्वच्य बलुवाकोट बनाये, समय समय पर बच्चो को नई जानकारी दे, एक जिम्मेदार नागरिक होने का फर्ज निभाये और जो सरकार सोई है और इस पिछड़ेपन से भाग रही है उससे जगाये ओर बताये की हम भी भारत के ही नागरिक है फिर क्यों इतने वंचित है हम सरकार की सुभिधाओ से।

 

PRAYAG RAJ BHATT

 

 



Today: Prayag is counting on you

Prayag raj needs your help with “Prayag Raj Bhatt: (Baluwakote GramShabha) Time for change let's be the part of Change.”. Join Prayag and 6 supporters today.