BSNL के युवा कर्मचारियों का करियर बर्बाद होने से रोकें

BSNL के युवा कर्मचारियों का करियर बर्बाद होने से रोकें

0 व्यक्ति ने साइन किए। 15,000 हस्ताक्षर जुटाएं!
15,000 साइन के बाद ये पेटीशन Change.org पर साइन पाने वाली टॉप पेटीशनों में से एक बन सकेगी!
Rakesh Kumar ने Prime Minister's Office और को संबोधित करके ये पेटीशन शुरू किया

BSNL, एक वित्तीय रूप से सशक्त एंटरप्राइज़ बनकर, निजी खिलाड़ियों का मुक़ाबला कैसे करेगा जब उसके कर्मचारी ही असंतुष्ट हों?

हाल के वर्षों में, राज्य के स्वामित्व टेल्को को बचाए रखने का प्रयास करने वाले युवा अधिकारियों को अन्यायपूर्ण एच.आर नीतियों का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। हमने वेतन या पदोन्नति के मामले में, करियर में बहुत कम प्रगति देखी है।

जुनियर टेलिकॉम ऑफ़िसर (जेटीओ) के 2007-08 बैच को दूसरे पीआरसी (पीएसयू की वेतन सिफारिश समिति) के कार्यान्वयन के दौरान भर्ती किया गया था, इस वादे के साथ कि उन्हें आनुपातिक रूप से मुआवजा दिया जाएगा और स्केल को गैर मानक E1A से E2 में अपग्रेड किया जाएगा।

हालांकि, अधिकारियों के पिछले बैच ने अपना वेतन रु 22820 पर फ़िक्स किया था, अगले 2 बैचों के लिए, मनमाने ढंग से बेसिक वेतन रु 19020 निर्धारित किया गया, जो न तो उस स्टैंडर्ड पर आधारित था जिसका वादा किया गया था, और न ही भर्ती के लिए अधिसूचना प्रकाशित होने पर विज्ञापित जेटीओ भर्ती नियम पर आधारित था।

इसके अलावा, बाद के सभी बैचों को भी निचले स्तर पर भर्ती किया गया था। प्रबंधन ने अपने जुनियर टेलिकॉम ऑफ़िसर  (जेटीओ) और सब-डिविज़नल इंजीनियरों (एसडीई) के लिए एक स्टैंडर्ड वेतनमान लागू करने के अपने वादे को पूरा नहीं किया है।

हमारे यूनियन द्वारा प्रबंधन को भेजे गए पत्र में कहा गया है, "2009 से 2020 तक BSNL द्वारा भर्ती/पदोन्नत किए गए लगभग 13000 अधिकारियों को E2-E3 के मानक पैमाने को मंजूरी नहीं मिलने के कारण उनकी कुल परिलब्धियों में भारी नुकसान हो रहा है।"

लगभग 30,000 BSNL अधिकारियों के लिए अंतिम वेतन संशोधन 2007 में हुआ था! वित्तीय संकट का हवाला देकर, हमें हमारे वैध बकाया से वंचित रखा जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ़, वरिष्ठ अधिकारी 7वें वेतन आयोग का लाभ उठा रहे हैं जो 2016 में लागू हुआ था।

महामारी के बीच BSNL के कुछ कर्मचारियों का निधन हो गया। उनके परिवारों को पेंशन के रूप में सिर्फ 2500 रुपये मिल रहे हैं! दूसरी ओर, डीओटी (दूरसंचार विभाग) के कर्मचारियों के लिए SAB (सुपर एन्युएशन बेनिफिट) ने उनके लिए रीटायरमेंट के बाद एक अच्छा, सुखी जीवन सुनिश्चित किया। दूसरी पीआरसी सिफारिश के अनुसार, BSNL में भर्ती सभी अधिकारियों के लिए रीटायरमेंट के बाद का लाभ वेतन (बेसिक + डीए) का 30% होगा। आज यह केवल 21.5% है, जिसके परिणामस्वरूप रीटायर होने वाले BSNL के किसी भी सीधी भर्ती कर्मचारी को बस 2500/- रुपये EPF पेंशन प्राप्त हो रही है। BSNL में भर्ती कर्मचारियों के लिए न्यूनतम 30% का SAB बहुत आवश्यक है।  

इसके अलावा, प्रबंधन ने टर्म इंश्योरेंस और स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने के बजाय कर्मचारियों के वेतन से GTI (ग्रुप टर्म इंश्योरेंस) और GHI (ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस) भी काट लिया है। इस खाते में कंपनी का योगदान शून्य है। BSNL को कर्मचारियों और उसके आश्रितों के टर्म इंश्योरेंस और हेल्थ इंश्योरेंस का ध्यान रखना चाहिए।

BSNL के अधिकारियों को भी पदोन्नति के लिए दरकिनार किया जा रहा है, और प्रबंधन ने 300 लोगों को मैनज्मेंट ट्रेनी (एमटी) के रूप में भर्ती करने का विकल्प चुना है। BSNL में बहुत से ऐसे योग्य इंजीनियरों और पेशेवर हैं जो प्रोमोशन का इंतेज़ार कर रहे हैं। लेकिन अपने स्वयं के कैडर को उनकी सालों की सेवा के लिए सम्मानित करने के बजाय, प्रबंधन मैनज्मेंट ट्रेनी की भर्ती कर रहे है।
सरकार की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) के बाद, BSNL को कर्मचारियों की गंभीर कमी का सामना करना पड़ा था। जो BSNL में रुके रहे, उन्होंने बिना थके कंपनी को आगे बढ़ाने का प्रयास किया है। हमारे काम का बोझ कई गुना बढ़ गया है, लेकिन बिना वेतन और भत्तों के, हम सभी अपने काम को लेकर डिमोटिवेटेड महसूस कर रहे हैं।

हम जल्द ही दूरसंचार मंत्री को अपनी मांगों की पूरी सूची के साथ एक ज्ञापन सौंपेंगे। तब तक, BSNL के अधिकारी विरोध के रूप में काला बैज पहने रहेंगे।

ये वही लोग हैं जो आपके इंटरनेट के लिए, दूरदराज के इलाक़ों में फोन कनेक्टिविटी ले लिए, बैंकिंग को बेहतर बनाने के लिए, और महत्वपूर्ण दूरसंचार के बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाने का काम कर रहे हैं। हमारा साथ दें, पेटीशन साइन करें।


चित्र साभार - द हिंदू

0 व्यक्ति ने साइन किए। 15,000 हस्ताक्षर जुटाएं!
15,000 साइन के बाद ये पेटीशन Change.org पर साइन पाने वाली टॉप पेटीशनों में से एक बन सकेगी!