NEW POLICY FOR MEDICAL REPRESENTATIVE JOB LESS ISSUE

0 have signed. Let’s get to 100!


प्रिय मित्रों
कहाँ सोये हो अगर आप एक मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव हो तो तैयार हो जाओ भुकमरी और कंगाली के लिए क्योंकि अगर मोदी जी की चली तो डॉक्टर ब्रांड नेम से दवा नहीं लिख सकेगा ऐसे हालात में दवा का प्रमोशन ख़त्म हो जायेगा हमारी भूमिका ही ख़त्म हो जायेगी आज हमें साल्ट प्रमोट करने के लिए नहीं बल्कि ब्रांड प्रमोट करने के लिए कंपनियां रखे हैं जब ब्रांड का चलन ही बंद हो जायेगा तो हमारी भूमिका ही नहीं रहेगी अगर आप एक मेडिकल रेप हैं और ये मैसेज पड़ रहे हैं तो वक़्त रहते विरोध कीजिये क्योंकि देश भर के लाखों परिवार इस से प्रभावित होंगे मोदी जी से ये सवाल जरूर पूछें कि हम लोगों का क्या होगा क्योंकि सर्कार अगर रोजगार देने की स्तिथि में नहीं तो रोजगार लेना का भी उन्हें कोई हक नहीं करना है तो दवा की कीमतों को कम करें इस चलन से तो बस हम ही नुक्सान में रहेंगे इस बाबत प्रधानमंत्री स्वास्थ्यमंत्री को अवश्य लिखें और जरुरत पड़े तो न्यायलय भी जाएं ।

 

*बहुत बड़ा हमला होने वाला है*
आगामी संसद सत्र में मोदी जी कानून में संशोधन करके एक नया कानून लाने जा रहे है जिसके अनुसार *डॉक्टर्स को जेनरिक दवा लिखना क़ानूनी बाध्यता हो जायेगी..*
अगर ऐसा होता है तो निम्लिखित समस्याएं आएगी:-
■ फार्मा कंपनियाँ अपना बिजनस *ब्रांडेड से जेनेरिक पर शिफ्ट कर देंगी*
■ *मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव का काम ब्रांड को प्रमोट करने का है, जब ब्रांड ही नहीं रहेंगे तो मेडिकल/सेल्स रिप्रेजेन्टेटिव का काम खत्म*
अब तो *आस्तित्व* का सवाल खड़ा हो चूका है..
साथियों यह सबसे ज्यादा आवश्यक समय है एकता बनाने का, अपने लोगो के साथ साथ और भी लोगो को *ऍफ़०एम०आर०ए०आई०* के झंडे के नीचे इकठ्ठा करके संगठन को और भी ज्यादा मजबूती देने का।
*वक़्त बदल रहा है...*
लेकिन झुकना नहीं है, रुकना नहीं है, हार नहीं मानेंगे, हम लड़ेंगे साथी, पूरी शिद्दत, पूरी ताकत से लड़ेंगे, हिंदुस्तान के ज़र्रे ज़र्रे से इंक़लाब की आवाज़ आयेगी।
*एक नया इतिहास लिखा जायेगा,*
और इतिहास गवाह होगा हमारी इस लड़ाई का।
*इंक़लाब ज़िंदाबाद*



Today: W RABINDRA is counting on you

W RABINDRA SUBUDHI needs your help with “Pmo of india: NEW POLICY FOR MEDICAL REPRESENTATIVE JOB LESS ISSUE”. Join W RABINDRA and 13 supporters today.