Oppose the proposed hawking zone in Ashoknagar Kandivali East

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 500 हसताकषर जुटाएं!


अशोकनगर में प्रस्तावित हॉकिंग क्षेत्र का विरोध क्यों करना चाहिए?

हमारा अशोकनगर एक पुरी तराह से एक रेसिडेन्शिअल क्षेत्र है. बीएमसीने ने अशोकनगर को एक पूर्ण विकसित हॉकिंग ज़ोन में परिवर्तित करने का निर्णय लिया है। बीएमसी की वेबसाइट से घोषित योजना के अनुसार करीब परमिटधारी 750 हॉकर्स के लिए अशोकनगर मे जागाच की पेशकश की गयी है. यह योजना हमारे छोटे, स्वच्छ और सुंदर अशोकनगर को सबसे खराब तरीके से प्रभावित करने जा रही है। सबसे पहले, श्रीकांत स्पोर्ट्स क्लब प्रस्तावित योजना के खिलाफ जोरदार विरोध कर रहा है और इसके खिलाफ कुछ मजबूत आपत्तियां जुटाना चाहेंगे।


1) यह योजना हमारे दिन-प्रतिदिन, हमारे स्वच्छ पर्यावरण और हमारे सामाजिक जीवन को प्रभावित करने जा रही है। फिर भी, बीएमसी से स्पष्ट और पारदर्शी संवाद की कमी है। नियमानुसार, बीएमसी को कम से कम दो स्थानीय समाचार पत्रों में हॉकिंग जोन योजना का प्लान सार्वजनिक करने और नियम 2016 की घोषणा के छह महीने के भीतर एक टाउन वेंडिंग कमेटी बनाने के लिए बाध्य है। बीएमसी ने इन दोनों नियमों का उल्लंघन किया है।


2) टाउन वेंडिंग कमेटी में अनुमति वाले नागरिक प्रतिनिधियों में संख्याएं नगण्य हैं. जहां यह समस्या नागरिकों की रोजमर्रा की जिंदगी से जुडी हुई है, पर हमें इसमें प्रतिनिधित्व ना के बराबर दिया गया है.


3) हमारे संविधान ने हम सबको मुक्त जीवन का अधिकार दिया है (अनुच्छेद 21)। हम एक सामान्य और पैदल चलने वालों नागरिक है, जो हमारे घरों से स्कूलों, कॉलेजों और कार्यालयों तक पैदल चलने के लिए रास्तों का उपयोग करते हैं बीएमसी ने हॉकर्स ज़ोन बनाने के लिए इन फुटपाथों का उपयोग करने का प्रस्ताव किया है जो कि केवल हॉकरों के लिए उपयोग में आएगा। यह योजना स्वतंत्र रूप से चलने के लिए दिए गए हमारे सुरक्षित स्थान को हमसे छीनना चाहती है। पैदल चलने वालों के लिए असुरक्षित और छोटी सड़के आज तकरीबन करीब 50% सड़क दुर्घटनाओंका का मुख्य कारण है।


4) हमारे फुटपाथ जिस पर हाकिंग पिचों का प्रस्ताव है, 0.87 मीटर की चौड़ाई के है, और इस योजना के अनुसार, एक हॉकिंग पिच 1 मीटर x 1 मीटर होना चाहिए, जो असंभव है। इसलिए, प्रस्तावित योजना के लिए जगह बनाने के लिए, क्या बीएमसी हमारे कंपाउंड की दीवारों और हमारी भूखंड की जगह हमसे छीन के लेगी? और यह हॉकर्स को दान भेंट स्वरूप  दी जाएंगी? यदि ऐसा होता है, तो हम इस योजना का जोरदार विरोध करेंगे।


5) इस छोटे क्षेत्र में, उसे फेरीवाले की बैठने की व्यवस्था, उसका दूकान और उसे दूकान से खरीदारी करने वाले ग्राहक समा पाएंगे? तो जानिए, अगर रस्ते के दोनों तरफ़ा २- २ मीटर याने कुल ४ मीटर निकल जाता है, तो रास्ते के बीच में हमारे लिए एक छोटा रोड चलने लिए बचेगा। पर क्या वह फुटपाथ होगा? बिलकुल नहीं! वह रास्ता सिर्फ गाड़ियों के लिए बना होगा। तो सोचिए साहब, जिस रास्तो. पर बड़े स्पीड से गाड़ियाँ चलेंगी, उसे रस्ते पर हमें बच-बचकर चलना होगा। यह सीधे उल्लंघन करता है (अनुच्छेद 1 9 घ) हमारे अधिकार का जो हमें  किसी भी बाधा के बिना सड़कों का स्वतंत्र रूप से चलने के लिए दिया  है.


6) प्रस्तावित योजना में सार्वजनिक स्वास्थ्य पर क्या विचार किया गया है? हमारी सड़कों पर रोजाना करीब 10,000 ग्राहकों के साथ 750 हॉकर्स पूरे कचरे के ढेर खड़े कर देंगे, उसके निर्मूलन की कौनसी योजना है आपके पास? यह निश्चित रूप से विभिन्न प्रकार के रोगों के लिए खुले निमंत्रण होगा।


7) सड़कों पर लगभग रोजाना 10000 ग्राहकों के साथ 750 हॉकर्स के शौचालय और स्वच्छता सुविधाओं के लिए बीएमसी द्वारा प्रस्तावित प्रावधान क्या हैं? अशोकनगर के आम नागरिकों की सार्वजनिक स्वास्थ्य भी महत्व रखता है। सरकार मीडिया पर स्वच्छ भारत अभियान और सीवेज मैनेजमेंट की बाते करते है, लेकिन बीएमसी इन दोनों योजनाओं से आवश्यक नियमों को कैसे लागू करने जा रही है?


8) अशोकनगर क्षेत्र सीधे राजगुरू फ्लायओवर से जुड़ा हुआ है, जो 24x7 क्षेत्र में सबसे व्यस्त सड़क है। कई बार, फ्लायओवर एक ट्राफिक जाम के मुद्दे का सामना करता है. क्या  ट्रैफिक पुलिस ने इसा हाकिंग जॉन को अपना अनुमोदन देने से पहले हमारे ट्राफिक के हाल जाने है?


9) सड़कों पर लगभग 1000 ग्राहकों के साथ 750 हॉकर्स निश्चित रूप से हमारे क्षेत्र में गंभीर ध्वनी प्रदूषण पैदा करने जा रहे हैं, जिसका आम आदमी, खासकर बच्चों और वयस्क आबादी के जीवन पर इसका बुरा असर पड़ा सकता है। बीएमसी एक रेसिडेंशियल क्षेत्र में इस तरह के आवाज़ प्रदूषण की अनुमति कैसे दे सकता है?


10) किसी भी रेसिडेंशियल क्षेत्र में आग लगने की संभावना ज्यादा होती है. उसके अलावा लोगों को हृदय उपचार और सड़क दुर्घटना जैसे गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों का सामना करना पड़ता है, इसलिए उन्हें मेडिकल उपचार की त्वरित आवश्यकता पड़ा सकती है। क्या ऐसे भीड़भाड़ वाले सड़कों से फायर ब्रिगेड और एम्बुलेंस आ सकती है? इससे छोटीसी दुर्घटनाभी बड़ा स्वरूप धारण करा सकती है.


11) भूकंप और भारी बारिश जैसी प्राकृतिक आपदाओं के दौरान हम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बीएमसी की आपदा प्रबंधन योजना क्या है? इस तरह की स्थिति में लोग भगदड़ के शिकार हो सकते हैं। क्या उन्होंने इस योजना को बनाने से पहले यह विचार किया है?
एमसीजीएम फुटपाथ दिशानिर्देश कहता है की 'पैदल यात्री पहले'! लेकिन ऊपर दिए हुए 11 मुद्दों को देखते हुए, यह बिल्कुल उलटा लगता है। यह बीएमसी योजना न केवल अशोकनगर के आम नागरिकों के जीवन को गंभीर रूप से प्रभावित करती है बल्कि हमारे सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए भी यह एक गंभीर खतरा है। हम ऊपर बताए गए मुद्दों से इस योजना का दृढ़ता से विरोध करते हैं। अशोकनगर के लगभग 15,000 निवासियों को भी एक सुरक्षित और स्वच्छ वातावरण में रहने और अपनी आजीविका के लिए अर्जित करने का अधिकार है। हमारे अशोकनगर को सुंदर और स्वच्छ बनाये रखने की हम प्रतिज्ञा करते हैं। श्रीकांत स्पोर्ट्स क्लब हमेशा आपके साथ है और हमेशा रहेगा। हमारी शांति और खुशहाली बनी रहे इसलिए हम इस एकतरफा प्लान का कडा विरोध करते है.



आज — Onkar आप पर भरोसा कर रहे हैं

Onkar Dichwalkar से "Oppose the proposed hawking zone in Ashoknagar Kandivali East" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Onkar और 409 और समर्थक आज से जुड़ें।