सुल्तानगंज और बख्तियारपुर का नाम बदला जाए

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


Problem
बिहार के भागलपुर जिले में “सुल्तानगंज” कहा जाने वाला एक ऐतिहासिक स्थान जो शिवभक्तो के लिए अति महत्वपूर्ण है, जहाँ गंगा उत्तरवाहिनी है, इस स्थान से सालों भर शिवभक्त काँवरिये जल भर कर देवघर तक की कठिन पैदल यात्रा करतें है, और द्वादश ज्योतिर्लिंग में एक बाबा बैधनाथ पर जल अर्पण करते है, सुल्तानगंज का पुराना नाम “जहानुगिरी” था जिसका वर्णन पंडो द्वारा संकप्ल्प कराने के वक्त पढ़े जाने श्लोकों में भी आता है, इस स्थान से जुडी कहानियो का वर्णन वेद पुरानो तक में है, कहा जाता है की सर्वप्रथम इसी स्थान से रावण ने बाबा बैधनाथ को कांवड़ में जल भर कर चढ़ाया था, हिन्दू आस्था से जुड़े इस अतिमहत्वपूर्ण स्थान का पौराणिक नाम पुनः स्थापित यथाशीघ्र होना चाहियें,
बख्तियारपुर का नाम क्रूर मुस्लिम आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी के नाम पर रखा गया है। बख्तियार खिलजी ने प्रचीन समय में दुनिया भर में शिक्षा के लिए प्रसिद्द नालंदा विश्वविद्यालय पर हमला किया था और उसे जलाकर तहस नहस कर दिया था। बख्तियार खिलजी एक दुर्दांत हत्यारा और बिदेशी आक्रमणकारी था उसके नाम पर शहर का होना इस देश के निवासियों के लिए अपमानजनक है । इसी कारण से इस शहर का नाम बदला जाना चाहियें,

Solution
जिस तरह से जापान,अरब,यूरोप, जैसे दुनियाभर के जगहों पर, वहां के मूल निवासियों के संस्कृति,इतिहास का बोध कराया जाता है,उसी तरह से दुनिया के सबसे पुराणी संस्कृति और धर्म को उसकी वास्तविक पहचान वापस दिलाने की आवश्यकता है,

Personal story
मै राकेश मिश्रा जमशेदपुर,झारखण्ड निवासी इस याचिका पर आपका समर्थन मांगता हूँ,