#PMTalkToRavish : रवीश कुमार को इंटरव्यू देकर देश की जनता से करें बात

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 15,000 हसताकषर जुटाएं!


प्यारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी,

हमारा देश एक ऐतिहासिक मोड़ पर आकर खड़ा है और पूरी दुनिया की नज़रें विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र- भारत पर टिकी हैं; जहाँ 2019 में चुनाव हो रहे हैं। पार्टियों के मैनिफेस्टो आ गए हैं, 130 करोड़ से ज़्यादा भारतीय अपनी उंगलियों पर निशान लगाकर पार्टियों के भविष्य का फैसला करेंगे। फैसला करेंगे कि अगली सरकार किसकी होगी।

चुनाव आ गया है तो टीवी की स्क्रीन पर छोटे-बड़े नेता दिखने लगे हैं, पहले से ज्यादा दिखने लगे हैं। मीडिया, चाहे वो टीवी हो, अखबार या रेडियो, हर जगह नेताओं को देखा, पढ़ा या सुना जा रहा है। सही भी है, चुनाव में नेताओं का शोर नहीं होगा तो क्या जनता का होगा!

पर माननीय प्रधानमंत्री जी, इस शोर में आपकी आवाज़ धीमी पड़ रही है। शायद देश के इतिहास में पहली बार हो रहा है कि भारत के कोई प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल, एक भी प्रेस कॉन्फ्रेंस किये बिना पूरा कर रहे हैं।

दुर्भाग्य से अब तो चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है, तो प्रेस कॉन्फ्रेंस संभव नहीं है। पर प्रधानमंत्री जी देश की जनता के पास अभी भी आपको एक स्वतंत्र और निष्पक्ष इंटरव्यू में सुनने का मौका है।

प्रधानमंत्री जी, क्या आप पत्रकार रवीश कुमार को एक इंटरव्यू देकर पूरे देश की जनता और अपने आलोचकों को संदेश देना चाहेंगे?

इस पेटीशन पर हस्ताक्षर करें अगर आप भी चाहते हैं कि प्रधानमंत्री जी, रवीश कुमार को इंटरव्यू दें। #PMTalkToRavish

मोदी जी, बतौर प्रधानमंत्री आपने ज़रूर कुछ इंटरव्यू दिए हैं, अपने कार्यकाल में आपने पत्रकारों के सवालों का सामना किया है। पर बहुत लोगों का मानना है कि उन इंटरव्यू में आपसे कठिन सवाल नहीं किए गए, कुछ ने तो यहाँ तक कहा कि वो इंटरव्यू प्रायोजित थे। रवीश कुमार ने सत्ता से हमेशा कठिन सवाल किए हैं, चाहे वो पहले की यूपीए सरकार रही हो या मौजूदा सरकार।

आपको तो मालूम होगा प्रधानमंत्री जी कि कैसे विपक्ष के नेता राहुल गांधी, देश के मुद्दों पर आपको पब्लिक डिबेट की चुनौती देते रहते हैं। इस चुनौती को स्वीकार करना पूरी तरह आपका निर्णय होना चाहिए, पर हमें याद रखना चाहिए कि राहुल गांधी ने सरकार में रहते हुए अपने सबसे बड़े आलोचक, अरनब गोस्वामी को इंटरव्यू दिया था।

प्रधानमंत्री जी आप ही के शब्दों को दोहराएं तो सरकार से सवाल करना ज़रूरी ही नहीं बल्कि देशभक्ति भी है। मैं और जो भी भारतीय इस पेटीशन पर हस्ताक्षर करेंगे, उनको भरोसा है कि रवीश कुमार को इंटरव्यू देकर आप जनता से बात कर सकेंगे। जनता तक उन बातों को पहुँचा सकेंगे जो आपकी प्राथमिकता है।

मोदी जी हम चाहते हैं कि आप महिलाओं और अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ते अपराध, बढ़ती बेरोज़गारी, इत्यादि जैसे मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखें। मोदी जी हम सभी भारतीय आपको सुनने के लिए उत्सुक हैं, इसलिए हम चाहते हैं कि आप रवीश कुमार को इंटरव्यू दें। #PMTalkToRavish

मोदी जी आप चुनावी रैलियों में बोलकर निसंदेह अपने विरोधियों की चिंता बढ़ा देते हैं। पर उन रैलियों में आप अपनी पार्टी की ओर से बोलते हैं। मोदी जी हम सारे भारतीय आपको भारत के प्रधानमंत्री के रूप में सुनना चाहते हैं।

चुनाव जैसे-जैसे आगे आएगा और आगे बढ़ेगा, देश के हर कोने से आपको सुनने की मांगें उठेंगी। रवीश कुमार को इंटरव्यू देकर आप अपने आलोचकों को एक बड़ा संदेश दे सकते हैं। उन सबको गलत साबित कर सकते हैं। देश को बता सकते हैं कि आप जनता के सारे सवालों के जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

आपके इंटरव्यू के लिए उत्सुक,
एक भारतीय महिला