झरिया को उजड़ने से बचाएं।

0 have signed. Let’s get to 100!


श्रीमान्,

       बीसीसीएल के व्यापक भ्रष्टाचार के कारण फैली झरिया की भूमिगत आग को बहाना बनाकर इस कोयलानगरी को उजाड़ने से रोकें। सिंफर के वैज्ञानिकों ने यह दावा किया है वे छह माह में इस आग को बुझा देंगे। इन लोगों को एक मौका दें ताकि हमलोगों के आशियाने उजड़ने से बच सकें। आकड़ों के मुताबिक करीबन 2 बिलियन टन कोयला इस आग की वजह से पहुंच के बाहर हो गया है। देश की तरक्की के लिए इस खनिज संपत्ती का दोहन आवश्यक है, इस तथ्य से हम झरियावासी भी सहमत हैं। परन्तु चंद पूंजिपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए ओपन कास्ट पद्धति से ही खनन करने पर जोर क्यूं दिया जा रहा है? ओपन कास्ट से भूमिगत आग को ऑक्सिजन की सप्लाई बढ़ती जा रही है। पर्यावरण को अपूरणीय क्षति हो रही है। पूरा शहर ओ.बी के पहाड़ों एवं गहरी जानलेवा खदानों से पट गया है। ओपन कास्ट पद्धति से कोयले के आधी सिम का दोहन भी लाभप्रद तरिके से नहीं हो पाता है। 

सविनय निवेदन है कि इस आग को बुझाकर, बिना झरियावासियों का विस्थापन किए, भुमिगत खदानों के माध्यम से ही खनन किया जाए। चंद पूंजीपतियों एवं स्वार्थी अधिकारियों के लालच की अग्नि में हम लोगों के बाप-दादा द्वारा बनाए गए घरों और मोहल्लों की आहूति न दी जाए। 

सादर

अविषेक सिंह

पाथरडीह, धनबाद



Today: Avishek is counting on you

Avishek Singh needs your help with “Narendra Modi: झरिया को उजड़ने से बचाएं।”. Join Avishek and 13 supporters today.