CBI inquiry of 11 mysterious deaths in Burari, Delhi

CBI inquiry of 11 mysterious deaths in Burari, Delhi

0 व्यक्ति ने साइन किए। 200 हस्ताक्षर जुटाएं!
200 साइन के बाद इस पेटीशन को लोकप्रिय पेटीशनों में फीचर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!
Ravinder Tyagi ने Minister of Home Afairs (Ministry of Home Affairs, North Block) और को संबोधित करके ये पेटीशन शुरू किया

30 जून, 2018 की सुबह संतनगर बुराड़ी, दिल्ली में सनसनी फैल गई जब एक समृद्ध और सुखी परिवार के सभी 11 सदस्य रहस्मय परिस्थितियों में मृत पाए गए।

एक 75 वर्षीय वृद्धा के अलावा उनके 2 बेटों का पूरा परिवार साथ मे उनकी एक विधवा बेटी और नातिन समेत सभी लोगों के मृत शरीर घर मे कपड़ों के सहारे लोहे के एक जाल पर लटके पाए गए।

दिल्ली पुलिस ने घर मे पाए कुछ लिखित पन्नो के आधार पर तंत्र-मंत्र की आशंका व्यक्त करते हुए आत्महत्या का मामला दर्ज किया है।

ये परिवार पिछले 20-25 वर्षों से इस क्षेत्र में रह रहा था जो आर्थिक रूप से खूब सम्पन्न और सामाजिक रूप से मिलनसार था। घटना से 14 दिन पहले ही उक्त वृद्धा की नातिन की सगाई एक भले परिवार में की गई, जिसमें पूरा परिवार जश्न मनाते देखा गया। इनके मकान का बड़े पैमाने पर नवीनीकरण का काम भी चल रहा था।

उक्त वृद्धा का एक बेटा अपने परिवार सहित राजस्थान में और एक विवाहिता बेटी सोनीपत (हरियाणा) में रहते हैं, जीवित बचे हैं। इन दोनों, अन्य रिश्तेदारों और पड़ोसियों ने तंत्र मंत्र की किसी सम्भावना से इनकार किया है। एक भरा पूरा सम्पन्न परिवार अचानक सामूहिक आत्महत्या करे, ये विश्वसनीय कतई नहीं लगता। 12 वर्ष से 75 वर्ष तक के 11 व्यक्ति एक साथ आत्महत्या के लिए एकमत होने सम्भव नही लगते जबकि ये परिवार समाज मे खूब घुल-मिल कर रहता था। आमतौर पर समाज से कटकर रहने वाले लोग ऐसे कदम उठाते हैं जहाँ किसी बाबा के झांसे में पूरा परिवार आ जाए।

दूसरी ओर यदि पुलिस की थ्योरी सही भी है तो ये और भी खतरनाक बात है। इस परिवार को तथाकथित आत्महत्या के लिए उकसाए जाने की तह तक जाना अति आवश्यक है।

इस पेटिशन के द्वारा हम भारत सरकार के गृह मंत्री और प्रधानमंत्री से इस रहस्यमयी घटना की CBI जांच की मांग करते हैं। उक्त परिवार के परिजनों के साथ साथ पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। इस घटना की गहन जांच करके दोषियों को तुरन्त न्यायिक प्रक्रिया के सामने लाया जाए।

आपसे विनम्र निवेदन है इस पेटिशन को समर्थन देकर इस मुहिम में जनमानस के साथ आएं।

 

 

0 व्यक्ति ने साइन किए। 200 हस्ताक्षर जुटाएं!
200 साइन के बाद इस पेटीशन को लोकप्रिय पेटीशनों में फीचर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!