bitcoin is not illegal only not a legal tender

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 500 हसताकषर जुटाएं!


 

माननीय वित् मंत्री जी एवं माननीय प्रधान मंत्री जी, आपको कोटि कोटि प्रणाम  दिनाक 1 फरवरी 2018 को आपने बोला बिटकॉइन लीगल टेंडर नहीं है  माननीय वित् मंत्री जी मै आपसे जानना चाहता हु क्या शेयर लीगल टेंडर है ? क्या म्यूचुवल फण्ड लीगल लेंडर है ? क्या इक्विटी वाले लाइफ इंश्योरेन्स लीगल टेंडर है ? अगर नहीं तो ये कैसे चल रहे है अगर इनका विनियामक हो सकता है फिर बिटकॉइन का क्यू नहीं ? यदि 8 वर्षो में  बिटकॉइन 200 देशो के नागरिक  इसमें काम करके खुश है फिर इनके अरमानो को  नष्ट  करके आप अपने सर में कौन सा ताज पहनना चाहेंगे ?

 शराब ,अफीम, गाजा, गुटखा , तम्बाकू आदि पर सरकार क्यों टैक्स लेती है ?  फिर तो आपको इसको भी बंद करना चाहिए आखिरकार जनता के हित की बात है।  आप सरल और सीधा टैक्स प्रणाली अपना सकते है बैंक में पैसे आते समय ही आपका बैंक टैक्स काट कर सरकार के खाते में जमा कर दे लेकिन यहाँ भी आपने जलेबी की तरह टैक्स प्रणाली को गोल गोल घुमाया हुआ है।

क्या ये काम केवल कांग्रेस के कार्य प्रणाली की सोच तक ही सिमित था या वाकई दुनिया के स्तर तक  भारत का चहुमुखी विकास करना  था, जापान , अमेरिका जैसे देश बिटकॉइन के बारे में कुछ नहीं जानते और समझते है क्या ?  बिटकॉइन के कल के भविष्य को क्या हमारी सरकार आज ही जान चुकी है ?  कही ऐसा ना हो टैक्स भी सरकार को  ना मिले और बंद करने में भी आप विफल हो जाय या फिर कही ऐसा ना हो की भविष्य के चुनाव में ये मुद्दा आप विपक्ष को ना दे दे तब उनका चुनावी भाषण यही होगा भाईओ बहिनो यदि हम सरकार में आये तो बिटकॉइन को इंडिया में लीगल करेंगे।

यह एक टेक्नोलॉजी है , समय के साथ साथ व्यापार भी  परिवर्तनशील होता है और प्रकृति भी समय के अनुसार उसका संतुलन करती है सरकार को चाहिए की वो अपना टैक्स देखे और जनता के हितो का सम्मान करे, सरकार का काम ये नहीं होता की वो जनता के व्यापार के बीच में आकर ट्रेडिंग करे , हस्तक्षेप करे आज देश में लाखो लोग बेरोजगार है और यहाँ अपना करियर बना रहे है नुकशान कर रहे है या फायदा कर रहे है लेकिन सरकार से कुछ नहीं मांग रहे है अगर आप बिटकॉइन को बंद करते है तो क्या आपके पास नौकरी है ? आप बिटकॉइन को बंद करके कही पर भी बुद्धिमानी नहीं दिखा रहे है

इतिहास गवाह है जिसको जितना कुचला गया है, दबाया गया है वो उतना ही सशक्त  हुआ है आगे बढ़ा है, मजबूत हुआ  है , दूसरी तरफ ये भी देखने को मिला है जो लोग गलत रास्ते पर चले गए है हथियार उठा रहे है या फिर ड्रग्स का कारोबार कर रहे है या फिर असामाजिक कार्य कर रहे है उनको मुख्य धारा में जोड़ने के लिए सरकारे पानी की तरह पैसा खर्च करती है।  यहाँ मै साफ कह देना चाहता हूँ बिटकॉइन में कोई अनैतिक कार्य या असंवैधानिक कार्य नहीं होता है, व्यक्ति अपना पैन कार्ड , आधार कार्ड , बैंक अकाउंट , ईमेल आईडी और फ़ोन नंबर देकर ही बिटकॉइन एक्सचेंज में अपना अकाउंट खुलवाता है यदि सरकार द्वारा ये पहचान देने के बाबजूद कम पड़ रहे है , या ये पहचान देने के बाबजूद सरकार ये कहती है की बिटकॉइन में अवैध कारोबार हो रहा है तो इसका दोष किसका ? ये नाकामयाबी किसकी ? सरकार क्या कहना चाहती है ?

और हां ये स्मरण आपको होना चाहिए कि रुपये  में क्या अवैध कारोबार  नहीं होता है ? क्या नकली रुपये नहीं छ्प रहे है ? क्या रुपया आतंकवादियो के पास नहीं होता ?  बिटकॉइन के जन्म लेने से पहले तक क्या  सबकुछ ठीक था ?

विशेष :

इस सरकार के मुखिया के जीवन से अगर कोई सीख मिलती है तो वो ये है कि जीवन में संघर्ष करो , मेहनत करो , अपने उस वर्तमान कार्य को पूर्णतः दिन रात एक करके पूरा करो , नए नए आइडियाज पैदा करो उनपर शोध करो , नई से नई आधुनिक से आधुनिक तकनिकी से जुड्रो किसी का कोई परवाह किये बगैर ही अपने कार्य पर निरंतर आगे बढ़ो , यही नहीं उनका सपना है तकनिकी , डिजिटल इंडिया , मेक इन इंडिया , स्टार्टअप इंडिया फिर भी आप कहते है हमको आम का पेड़ चाहिए पर आम अवैध है , ब्लॉकचैन चाहिए पर बिटकॉइन अवैध है,  वाह क्या बात है “शाबास मेरी सरकार”

मेरा आखिरी सवाल :

वित्त  मंत्री जी आप तो खुद एक बहुत बड़े वकील भी है और मै एक साधारण व्यक्ति हु आपने कहा है ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी को हम अपनाएंगे क्योकि ब्लॉकचैन की टेक्नोलॉजी बहुत अच्छी है  लेकिन बिटकॉइन के बारे में आपने कहा की हमने एक जांच कमेटी बिठाया है उस कमेटी के रिपोर्ट आने तक हम कुछ कहने के स्थिति में नहीं है वित्तमंत्री जी मेरा आपसे यह प्रश्न है कि ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी अच्छी है ये आपको पहले से कैसे पता चल गया? और बिटकॉइन के बारे में नहीं चल पाया जबकि ब्लॉकचैन से बिटकॉइन और बिटकॉइन से ब्लॉकचैन का अस्तित्व दुनिया के सामने में आया  है मतलब एक दूसरे के पूरक है इन दोनो का वही रिस्ता है जैसे की एक सिक्के का दो पहलु। इसका अर्थ ये क्यू नहीं लगाया जाय की कमेटी तो एक बहाना है।   जो करना है, जो कहना है, जो दिखाना है, वो सब कुछ आपको ही करना- बोलना- समझाना है या फिर आपके उस विशेष सूत्र ने आपको बताना है जिसके माध्यम से आपको ये जानकारी दिया गया है कि ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी बहुत अच्छा है। 

बहुत बहुत धन्यवाद

भारत का आम और बेरोजगार नागरिक जिसको अपने बच्चो को पढ़ाकर देश निर्माण में सहयोग करना है

 



आज — Surendra Singh आप पर भरोसा कर रहे हैं

Surendra Singh Rawat से "minister of finance of india: why can not legal bitcoin in india" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Surendra Singh और 289 और समर्थक आज से जुड़ें।