To reform education system in India.

0 व्यक्ति ने हसताक्ष्रर गए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


जैसे-जैसे समय बदल रहा है, बदल रहा है जीने का तरीका। वैसे ही बदलना चाहिए हमारी शिक्षा व्यवस्था को भी। आज ज़रुरत है न सिर्फ पुराने शिक्षा व्यवस्था के धांचे में सुधार की बल्कि नई तकनीकों के इस्तेमाल की भी।

मेरी यह याचिका है शिक्षा के तरीकों में तथा शिक्षा प्रणाली में बदलाव की जो न सिर्फ हमारे समाज को सुधारेगा बल्कि विकास की रफ्तार भी तेज करेगा।

हमारी शिक्षा प्रणाली में सुधार के सुझाव-

1- पहली कक्षा से तीसरी कक्षा तक छात्रों को सिर्फ पढ़ने-लिखने तथा अनुशासन की शिक्षा दी जाए। साथ ही सही एवं गलत का भेद भी समझाया जाए।

2- चौथी कक्षा से बाकी विषय पढ़ाए जाए।

3- कक्षा पांच या सात तक की शिक्षा को अनिवार्य किया जाए साथ ही जन-जन में शिक्षा को लेकर आने वाली दुविधाओं को दूर किया जाए।

4- शिक्षा के जनजागृति अभियान में आम जनता को शामिल करना तथा जगह-जगह केम्प के माध्यम से नए विचारों को सामने लाना।

5- शिक्षा के नए परिपेक्ष्य ढूंढने तथा लागू करने के लिए अलग विभाग होना चाहिए।

6- छात्रों तथा जनमानस को उनके हकों की तथा जिम्मेदारीयों की शिक्षा देना।

7- एक देश एक पाठ्यक्रम लागू करना।

8- छात्रों को दिशा देने के लिए परामर्शदाताओं की नियुक्ति।

9- अपनी संस्कृति का संरक्षण करना तथा उसकी महत्ता समझाना।