To postpone the entrance exam of Banaras Hindu University because of covid - 19

To postpone the entrance exam of Banaras Hindu University because of covid - 19

0 व्यक्ति ने साइन किए। 1,500 हस्ताक्षर जुटाएं!
1,500 साइन के बाद इस पेटीशन को स्थानीय मीडिया द्वारा कवर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!

All India students association Banaras Hindu University ने MDRD और को संबोधित करके ये पेटीशन शुरू किया

 बी.एच.यू. हर वर्ष अप्रैल-मई के महीने में अपनी प्रवेश परीक्षाएं कराता है जो कि इस साल कोविड 19 के चलते आगे बढ़ाई गई। अप्रैल में अंत मे जहाँ देश मे कुल कोरोना प्रभावित लोगों की संख्या 33 हज़ार थी और प्रतिदिन 1700 मामले आ रहे थे उस वक़्त विश्वविद्यालय प्रशासन को प्रवेश परीक्षाएं कराना असुरक्षित लग रहा था वहीं जब अगस्त के पहले हफ्ते में ये संख्या 20 लाख पार कर चुकी है और प्रतिदिन 60 हज़ार से अधिक मामले आ रहे हैं तब विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्रवेश परीक्षाओं की तिथियाँ घोषित कर दी हैं। विशेषज्ञों के अनुमान के मुताबिक अगस्त के महीने में ही ये संख्या 30 लाख भी पार कर जाएगी। ऐसे में अगस्त के आखिरी हफ्ते में और सितंबर के दूसरे हफ्ते में लाखों परीक्षार्थियों को देश के हर हिस्सों में परीक्षा के लिए उनके परीक्षा केंद्रों पर भेजने का यह फैसला समझ के परे है। एक बड़ी चिंता बनारस शहर के लिए भी है जहाँ प्रवेश परीक्षा के दौरान सबसे बड़ी संख्या में परीक्षार्थी बैठते हैं और जहाँ लगभग 5000 मामले अभी तक सामने आ चुके हैं और प्रतिदिन 300 के आस-पास नए मामले सामने आ रहे हैं।

 बी.एच.यू. की प्रवेश परीक्षाओं में लाखों परीक्षार्थी विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर कोर्स में दाखिला लेने के लिए बैठते हैं जिसमें अलग-अलग शहरों में ये परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। हज़ारों परीक्षार्थी एक शहर से दूसरे शहर परीक्षा देने जाते हैं जो कि कोरोना महामारी के इस भयानक दौर में उनकी जान को खतरे में डालने जैसा होगा। विश्वविद्यालय में वर्तमान में अध्ययनरत विद्यार्थियों में बहुत सारे विद्यार्थियों को परास्नातक कोर्स की प्रवेश परीक्षा भी देनी होती है जिनका कहना है कि एक तरफ बी.एच.यू. प्रशासन ने 15 दिन में बीते सेमेस्टर के सभी पेपर का असाइनमेंट मांगा है और उसी बीच में प्रवेश परीक्षा की तिथियाँ भी घोषित कर दी है जिससे उनको बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

विश्वविद्यालय प्रशासन से सभी परीक्षार्थियों के मानसिक व शारिरिक स्वास्थ को ध्यान में रखते हुए ये अपील है कि जब तक कोरोना से प्रतिदिन प्रभावित होने वाले वाले मरीजों की संख्या में कमी न आये तब तक के लिए प्रवेश परीक्षा स्थगित रखें ताकि सभी परीक्षार्थियों में इस वैश्विक महामारी के दौरान प्रवेश परीक्षा की तिथि को लेकर असमंजस की स्थिति दूर हो सके।

 

0 व्यक्ति ने साइन किए। 1,500 हस्ताक्षर जुटाएं!
1,500 साइन के बाद इस पेटीशन को स्थानीय मीडिया द्वारा कवर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!