Implementation of Old Pension Scheme to the Govt. Employees inspite of NPS

0 व्यक्ति ने साइन किए। 500 हस्ताक्षर जुटाएं!


माननीय मुख्यमंत्री जी,

यह सर्वज्ञात है कि कर्मचारीवर्ग सरकारी तंत्र का अहम हिस्सा होता है जो सरकाररूपी गाड़ी के पहियों के रूप में काम करता है ।

परन्तु, अब वर्तमान में कर्मचारिवर्ग अपने भविष्य और परिवार के भविष्य की चिंता में रहकर अपना पूर्ण योगदान सरकारी कामों में नहीं दे पा रहा है । उसके पीछे की बड़ी वजह है - पेंशनविहीन होना । जब एक नेता विधायक अथवा सांसद बनता है और वह एक घण्टे के लिए भी उस पद पर आसीन होता है तो उसकी पेंशन शुरू हो जाती है । परन्तु एक कर्मचारी के 30 साल की अवधि उपरान्त भी पेंशनविहीन ही रहता है । 

NPS योजना कर्मचारीवर्ग के लिए अहितकर है । उसका अपना पैसा शेयर बाजार में जाने से अस्थिरता का माहौल रहता है ।

अतः महोदय से अनुरोध किया जाता है कि 2004 में बन्द की गई पेंशन योजना, 1972 पुनः लागू की जाए ताकि कर्मचारी निश्चिन्त रहकर काम कर सके क्योंकि वर्तमान में इतना वेतन भी नहीं है कि भविष्य के लिए बचत की जा सके । यह भी न्यायसंगत नहीं है कि कुछ भ्रष्ट अधिकारी अथवा कर्मचारियों की करनी का फल निर्दोष, ईमानदार और समर्पित कर्मचारियों को मिले । अतः इन ईमानदार और समर्पित कर्मचारियों और उन पर आश्रित परिवारों के लिये इस पुरानी पेंशन योजना को लागू करने की कृपा करें ।

निवेदक

समस्त कर्मचारी वर्ग, हरियाणा