Stop Police Barberism against Citizens of India

Stop Police Barberism against Citizens of India

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


यह एक बृहद समस्या है.. #जवानों_के_सम्मान_में_बिहार_पुलिस_मैदान_में।

बहुत ही दुख के साथ यह घटना शेयर करने पर मजबूर हूँ, दो दिन की छुट्टी में आरा आया हुआ हूँ, जहाँ आज शहर मे जाम हटवाने के क्रम में एक सज्जन की दूसरों के साथ लडाई हुई, और मै जाम हटने के बाद जा ही रहा था मुझे बिहार पुलिस के जवान ने बुलाया और बिना कुछ पुछे मुझ पर हाथ उठाया जैसे ही उसे पता चला कि गलत व्यक्ति पर हाथ उठाया, वह कोई उपाध्याय जी जो कि टाउन थाना मोड के दुर्गा पुजा समिति के सदस्य है, उन्होंने किसी को पकड़ कर मेरे खिलाफ झूठा शिकायत लिखवा कर बाद में सुलहनामा करवाया ताकि उसपे आंँच न आये जबकि शिकायत कर्ता ने सबके सामने माना की क्रास जवान ने शिकायत करवाया वह तो घर से आया है,बकायदा दारू का भी जांच किया गया, उसने पुलिस वाले ने अंत मे भैया व दूसरों के सामने गलती भी मानी , लेकिन क्या फायदा यह पोस्ट उनके जैसे और पुलिस वालो के लिये है, खून ठंडा रखे, और अपने वर्दी, कर्तव्य व देश की इज्ज़त का ख्याल रखें ।

सवाल यह है कि मुझे आंख पर भी चोट लगी है, यदि कुछ हो जाता तो हाथ में देशी कट्टा पकडा मुझे आतंकवादी भी साबित कर देते, दारु का बोतल हाथ मे पकड़ा , स्मगलर साबित कर देते, यह हमारे मौलिक अधिकारों का हनन नहीं तो क्या है। पुलिस हमारे अधिकारों की रक्षा हेतु है, हमारे टैक्स से वेतन पाती है तो पब्लिक के साथ ऐसा व्यवहार कहाँ तक उचित है।

क्या यही है हमारी बिहार पुलिस और यही है #एक_जिंदा_सैनिक की इज्ज़त.और यह सब जानने के बाद की मै एक जिम्मेदार नागरिक व सामाजिक कार्यकर्ता व पूर्वनौसैनिक हूँ।
इस घटना से आहत ही नहीं मर्माहत हूँ... #Ugly_face_Bihar_Police