dgvcl એ ગુજરાતી ભાષા ઈમેલ સ્વીકારવૂ જોઈયે

dgvcl એ ગુજરાતી ભાષા ઈમેલ સ્વીકારવૂ જોઈયે

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!
100 साइन के बाद इस पेटीशन को लोकप्रिय पेटीशनों में फीचर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!

Rajesh Ruparel ने gujarat vij vitaran co को संबोधित करके ये पेटीशन शुरू किया

1. આપડે બધા વીજનૂ બીલ ભરઈયે છે. દર મહિને...પણ વીજ કં મારૂ ગૂજરાતી ઈમેલ લેતી નથી..

2.  આપડી ભાષા મરી જશે..એને બચાવો સહી કરો

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!
100 साइन के बाद इस पेटीशन को लोकप्रिय पेटीशनों में फीचर किए जाने की संभावना बढ़ सकेगी!