सड़क के गड्ढे, साक्षात यमदूत

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


दो दिन पहले में बारिश में अपनी बाइक से कहीं जा रहा था, मैं रुक नही सकता था इसलिए भीगते हुए राइड करना मेरी आवश्यकता थी, मगर अचानक से सड़क के बीचों बीच आये एक गड्ढे में मेरी बाइक जा गिरी और मैं घायल हो गया। गनीमत रही कि उस वक़्त पीछे से कोई गाड़ी नही आ रही थी वरना शायद मै और ज्यादा चोट लगवा लेता या जान पर बन आती। 

लोगों की मदद से मैं उठ पाया और रिसते लहू के बावजूद मैं उस गड्ढे को देखने गया तो समझ आया कि वो गड्ढा मरम्मत नही हो पाने की वजह से बना था, मैं भारत देश की स्मार्ट सिटी और राजस्थान की राजधानी विश्वविख्यात गुलाबी नगरी जयपुर की बात कर रहा हूँ। आये दिन हज़ारो लोग इस लापरवाही के कारण मौत के काल ग्रास में समा जाते है। मैं गुस्सा हूँ क्योंकि मेरी सरकार का ध्यान इस पर नही जाता, हमारे पास बारिश का पानी का ड्रेन तक नही है, सड़के पानी से भरी रहती है और उनमें बने गड्ढे नजर नही आते, ना उनको कभी भरने की कार्यवाही हो पाती है।