महामहिम राष्ट्रपति आप छोटे व्यापारियो की सहायता करे । GST मे WAIVEGSTLATEFEES3B

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


माननीय सभी व्यापारी एंव टैक्स सलाहकारो से निवेदन है कि आप ओर हम दोनो जी.एस.टी.पोर्टल से परेशान है इसका मूल उद्देश्य है कि सरकार जुर्माना किस तरह इक्कठा कर सके । जबकी व्यापारी व्यापार करे या रिर्टन दाखिल करे ।वे फिर टैक्स सलाहकार की सहायता लेता है किन्तु जी.एस.टी.पोर्टल से माथा लडता है किन्तु यह चलते एरररर आना ;ओटीपी नही आना ; साइट का स्लोडाउन तो आम बात है ।

व्यापारी की मूल समस्या यह है कि उसने जी.एस.टी.मे रजिस्ट्रेशन करवा लिया । अब उसके बुरे दिन शुरु ।वह व्यापार करे या ना करे उसे रिर्टन तो लगाना ही पडेगा किन्तु गफलत हो गई ओर एक रिर्टन लेट हो गया तो अगला रिर्टन तब तक नही लगा पायेगा जब तक पिछले रिर्टन का जुर्माना ना जमा कर दे । जुर्माना भी इतना अधिक है कि यदि किसी व्यापारी ने एक वर्ष तक रिर्टन नही लगाया है तो लगभग 80 हजार जुर्माना सरकार देना ही पडेगा । यह आमनवीय है यदि एक रुपये का भी व्यापार नही किया किन्तु बैठे बिठाये 80 हजार की चपत लग गई । कुछ व्यापारी ऐसे भी जिनके पास सरकार का कुछ टैक्स जिसकी 5 से 10 हजार पडा है वह जमा भी करवाना चाहता है किन्तु लेट रिर्टन जुर्माना उसके आडे आ रहा है ।जबकी उसका जमीर इसकी गवाही नही देता कि वह टैक्स का पैसा खा जाये ।

माननीय दोस्तो हमने सरकार को नींद से जगाने के लिये लाखो टवीट कर दिये किन्तु सरकार इस पर मौन बैठी है वह इस आमनवीय जुर्माने को हटाने की बात तक नही कर रही है जबकी यह छूट व्यापारियो को मिलनी भी चाहिये  ।

माहमहिम राष्ट्रपति श्रीमान रामनाथ कोविंद जी से निवेदन कर रहे है कि आप सरकार को इन छोटे व्यापारियो की इस बडी समस्या के समाधान के लिये आप श्रीमान जी सरकार कहे । आपके इस सहयोग के लिये व्यापारियो की ओर से अग्रिम आभार ।

व्यापारियो एंव टैक्ससलाहकार क्या सहयोग कर सकते 

1 आप एक दूसरे से मिले तथा इस पर चर्चा करे 

2 सोशल मीडिया आदि जैसे ट्विटर ;फेसबुक ; what's app अपनी आवाज उठाये 

3 टवीटर पर इस हैजटेग #WAIVEGSTLATEFEES3B  महामहिम राष्ट्रपति माननीय नरेन्द्र मोदी ;निर्मला सीतारमण तथा जी.एस.टी.कौसिंल को टैग करे ।

 

घन्यवाद