RSRTC demands

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 500 हसताकषर जुटाएं!


_*2 मिनट समय निकालकर 1 बार जरूर पढ़ें ये अपने सारे ग्रुप में व अपने सभी contacts को भेजे*_

*जनता से अपील*
राजस्थान की जनता से हम सब अपील करते हैं कि कृपया आप अपनी राजस्थान रोडवेज को बचाने के लिए हमारा साथ दें।
आप लोग हमेशा राजस्थान रोडवेज में सुलभ,सुखद, समयबद्ध, दुर्घटना रहित एवं ससम्मान सफर रोडवेज में करते आए हैं। राजस्थान रोडवेज हमेशा आपको सुरक्षित और सम्मान पूर्वक एवं समय पर आपको अपने गंतव्य तक पहुंचाती आई है। आप बैखोफ होकर राजस्थान रोडवेज में अपनी बहन बेटियों और बहुओं को रोडवेज में अकेले भेज सकते हैं ये रोडवेज की और उसके कर्मचारी की अपनी प्रतिष्ठा व आपका रोडवेज के प्रति विश्वास है।
आज आपकी रोडवेज को आपके साथ की आवश्यकता है ये बूढ़ी होकर जर्जर अवस्था में है आज हम सबको मिलकर इसे नयी जान देनी है ताकि ये चलती रहे।
*1 वर्तमान सरकार ने शपथ ग्रहण करते ही दूसरे दिन ही रोडवेज को दी जाने वाली बैंक गारंटी बंद कर दी ताकि हम नयी बसे खरीद ना सके।और अब सरकार कह रही है कि ये स्वायत्त शासी संस्था है इससे सरकार का कोई लेना देना नहीं है।*
*आप खुद समझदार है अगर सरकार का कोई लेना देना नहीं है तो सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न 48 प्रकार की छूट एवं सुविधाएं रोडवेज पर ही लागू कैसे होती है क्या प्राइवेट बसों में भी ये छूट मिलती है? क्या रोडवेज कर्मियों पर हुए किसी दुर्व्यवहार पर राजकार्य में बाधा का मुकदमा नहीं बनता है? तो फिर ये सरकार से सम्बंधित कैसे नहीं है? और अगर है तो फिर क्यों सरकार आपको बरगला रही है।*
*2. सरकार ने नई भर्ती पर भी रोक लगा दी है। क्या बिना कर्मचारी के काम हो पाएगा? क्या आप नहीं चाहते कि भर्ती खुले और अपने में से किसी भाई को रोजगार मिले?*
*3. इस सरकार के आने के बाद किसी भी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारी को पेंशन, पीएफ,सीपीएफ, भत्ता आदि कुछ भी एक रुपया नहीं मिला। क्या कोई लोकसेवक अपनी जिंदगी के अहम लगभग 40-45 साल इस नौकरी में खपाएं और उसे इतना हक नहीं है कि उसका खुद का पैसा जो कटौती के रूप में जमा हुआ है वो उसे अपने जीवन के अंतिम चरण में ना मिले या मिले तो इतनी याचना, तपस्या और जिल्लत से मिले?*
*4... सरकार के हर विभाग में कर्मचारियों को महंगाई भत्ते, बोनस, वेतनमान मिलते हैं। जो कर्मचारी मात्र आठ घंटे कुर्सियों पर बिताते हैं उनको इन सब सरकारी सुविधाओं का लाभ मिलता है तो क्या 12 से 18 घंटे अथाह मेहनत करने वाले रोडवेज कर्मी को इसका हक नहीं है?*
*5.. पुलिस, सेना, मेडिकल कर्मी की तरह हम भी त्योहार हो या कोई अन्य छुट्टी फिर भी अपनी ड्यूटी पर दिन-रात लगे रहते हैं। रक्षाबंधन पर हम हमारी कलाई सूनी रखकर लाखों कलाईयों पर राखी बंधवाने के लिए अतिरिक्त कार्य करके लगे रहते हैं। हमने ना कभी घर पर दीपावली मनाई है ना ईद। क्या हमें ये अधिकार नहीं पर फिर भी हम अपनी जनता को त्योहार मनवाने के लिए अपनी खुशियों की आहुति दे देते हैं।*
*हमें बदनाम करने के लिए हमारे ही कुछ लोग हमें चोर बताकर रोडवेज के घाटे के जिम्मेदार हमें बताते हैं। हम कितनी ही बार यात्रिदोष प्रणाली को लागू करने की मांग कर चूके हैं और आज भी करते हैं अगर ये प्रणाली लागू हो जाएगी तो कोई भी कर्मी एक रूपए की चोरी नहीं कर पाएगा।* *क्या हम इस प्रणाली को लागू कराने की लड़ाई लड़ रहे हैं तो हम चोर हैं या जो इसे लागू नहीं कर रहे हैं वो चोर हैं?*
*अंत में मैं आपसे विनती की करता हूं कि परिस्थिति की गंभीरता को समझे और समय रहते हमारा साथ देकर रोडवेज को बचा लीजिए वरना हमें तो कोई भी विभाग मिल जाएगा मगर जनता बेचारी प्राइवेट बसों के अंदर जिल्लत और धिक्कार भरे सफर को मजबूर हो जाएगी।* *आज मध्यप्रदेश की जनता रोडवेज बंद होने के कारण खून के आंसू रोती है।*
*आप सोचो एक दिन की रोडवेज की हड़ताल में ये प्राइवेट वाले मनमाना किराया वसूलने लग जाते है तो जब रोडवेज स्थाई रूप से बंद हो गई तो क्या इन पर सरकार अपना अंकुश लगा पाएगी?*
*हमें बार बार हड़ताल करके प्रदेश की जनता को परेशान करने में मजा नहीं वरन शर्म आती है मगर करे क्या जब ऐसी गूंगी बहरी सरकार अपने कानों में तेल और आंखों पर पट्टी बांधकर बैठी है तो हमें मजबूर होकर ये कदम उठाने पड़ते हैं। और आप जानते हैं कि हड़ताल पर जाने से पहले सरकार को नोटिस दिया जाता है अगर सरकार चाहती तो नोटिस मिलते ही जनहित में कोई फैसला ले सकती थी मगर सरकार शायद आपको और हमें परेशान ही देखना चाहती है।*
*आप को पता ही है कि पिछली हड़ताल में सरकार के और हमारे विभाग के मंत्री जी ने हमसे लिखित में समझौता किया था जो अब तक एक प्रतिशत भी अमल में नहीं लाया गया इसी वजह से हमें मजबूरन वापस ये हड़ताल करनी पड़ी।*
*हम आपको हो रहे कष्ट के लिए हृदय से क्षमा प्रार्थी है मगर करे क्या जब सरकार निरंकुश हो जाए तो जनता ही सबक सीखा सकती है अतः आपसे प्रार्थना है कि सरकार पर दबाव बनाकर हमें जल्द न्याय दिलाने में हमारा सहयोग करे ताकि जल्द ये हड़ताल टूट सके।*
*आपके सहयोग की अपेक्षा के साथ....सादर नमस्कार*���

_*यदिआप हमारी बातो से सहमत है तो ये pitition sign kare or apne sathiyo parivarjano ko protsahit kare. 



आज — Alka आप पर भरोसा कर रहे हैं

Alka Swami से "Existing govt. Should accept demands of Rajasthan Roadways: RSRTC demands" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Alka और 283 और समर्थक आज से जुड़ें।