न्यूज़ चैनलों द्वारा फैलाए जा रहे झूठ के खिलाफ

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


देश में लगातार कुछ न्यूज़ चैनलों और अखबारों द्वारा झूठ फैलाया जा रहा है और जनता को गुमराह किया जा रहा है इतना ही नहीं बल्कि ये झूठ प्रेषित करने के बाद, जनता तक  झूठी सूचनाएं  पहुंचाने के बाद माफी भी नहीं मांगते ।ये झूठ का कारोबार बंद हो, और झूठ फैलाने वाले न्यूज चैनलों और अखबारों पर कार्यवाही हो। 

समाचार पत्रों और चैनल का काम होता है जनता की आवाज बनना जबकि ये ना जाने किसकी आवाज़ बने हुए हैं...