याचिका बंद हो गई

सच्ची लोकशाही

यह मुद्दा 8 हस्ताक्षर जुट गये


सत्यमेव जयते

वंदे मातरम्

में नंदुबेन देसुरभाई भंम्मर आप सब की ही तरह एक भारतीय नागरिक हूँ।

हम सभी भारतवासियो को यह पता है की हमारा देश लोकशाही से चलता एक बिनसांप्रदाइक देश हैं। हमारे यहाँ देश के तंत्र के बारेमें कहुँ तो "लोगो की लोगो द्वारा चुने हुवे लोगो से चलता तंत्र" !!!!!!

पर क्या ये सचमुच लोगो के द्वारा चुने गए लोगो "शब्द" ठीक हैं?? नहीं ,,,यहाँ ज्यादातर तो कुछ पॉलिटिकल पार्टी के द्वारा जाती,कॉम,व्यक्ति का मनी पावर,मसलपावर देख हम जनता पर थोपे नेताओ में से किसी एक को चुनना यही हमारा अधिकार रह गया हैं।

 अब बात आएगी "NOTA" की जो की सिर्फ हम मतदाताओ का समय जाया करने के अलावा हमें कोई अधिकार नहीं देती,

दा. त:एक चुनाव में अलग अलग पार्टी से 

" अ "ओर " ब " तिन नेता खड़े हैं हमे गर तीनो नेता मेसे कोई नेता योग्य न लगे तो हम "NOTA" का बटन दबा कर वोट करते हैं।

अब वोटगीनति के वक्त "अ" को 4 वोट मिले "ब" को 6 ओर " NOTA "को 7 तो जितना कौन चाहिए????

मेरे हिसाब से "NOTA"

पर नहीं,,,,,यहाँ तो " ब " को विजय प्राप्त होगा,,यह तो सिर्फ एक छोटा उदाहरण हैं,,, यही NOTA को 14 मिले और "अ"को 1 और "ब" को 2 तब भी विजय तो "ब" का ही होगा।

 यह कैसे दुष्प्रभाव डालता हैं ? हमे कोमवादि,जातिवादी,परिवारवादी,कौभांडी ऐसे नेताओ को बार बार रिपीट देखना पड़ता हैं।

देश को नई प्रतिभा का कोई लाभ नहीं, कालाबाजार,भ्रष्टाचार, कामचोरी,,अपनवाला,मेरा सगा,,, यह देश को ले डूबेंगे।

हम नए भारत की ईमारत इस खोखली नीव पर कैसे रखे??

यहाँ बात व्यक्तिगत नहीं है बात सम्पूर्ण भारत के विकास और सन्मान की हैं,,

"NOTA" को कार्यक्षम बनाये जहाँ जहाँ NOTA  का विजय हो वहाँ जितने भी उम्मीदवार खड़े हो उन्हें और उनके परिवार को कम से कम 3 टर्म तक चुनाव लड़ने पर प्रतिबंधित किया जाए तभी देश में सच्ची लोकशाही स्थापित होगी,

रही बात चुनावी खर्च की तो ऐसे वैसे नेता चुन देश जो भ्रष्टाचार के चुंगुल में फंसा हैं उसके लिए ये खर्च तो देश हित में एक आहुति,एक समर्पण होगा।

कृपया सभी भारतीय भाई बहन साथ दे और हमारी लोकशाही को बचानेके लिए आवाज उठाये।

ली.नंदुबेन भंम्मर

+918200836663

 



आज — Nanduben आप पर भरोसा कर रहे हैं

Nanduben Bhammar से "Election Commission (चुनाव पंच: सच्ची लोकशाही" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Nanduben और 7 और समर्थक आज से जुड़ें।