दुनिया के नागरिक डब्ल्यूएचओ को कार्रवाई के लिए बुला रहा है

दुनिया के नागरिक डब्ल्यूएचओ को कार्रवाई के लिए बुला रहा है

0 have signed. Let’s get to 5,000!
At 5,000 signatures, this petition is more likely to get picked up by local news!
#COVIDisAirborne started this petition to Dr. Tedros (World Health Organization (WHO))

दुनिया के नागरिक डब्ल्यूएचओ को कार्रवाई के लिए बुला रहा है

Version:   English  |  Español  |  Italiano  |  Português  |  Française  |  Deutsche  |  礼 Japanese  |   繁軆字 C.Chinese  |  简体字 S.Chinese  |  한국어 Korean  |  हिंदी Hindi  |  Монгол Mongolian  |  Tiếng Việt Vietnamese  |  Filipino  |  русский Russian  |  український Ukrainian  |  қазақ Kazak  |  Persian فارسی

डब्ल्यूएचओ को पत्र
 
कथन का उद्देश्य
हम, सभी विस्वबासी, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से अनुरोध करते हैं कि वे SARS-CoV-2 एरोसोल द्वारा (वायु द्वारा प्रसारित) फैलता है, इसके प्रमाण को स्वीकार करें | इसके साथ ही, लोगों को खुद की सुरक्षा के लिए सक्षम करने के लिए तुरंत, स्पष्ट मार्गदर्शन दें |

महामारी के शुरुआती चरणों में, WHO ने ठोस तरह से ये कहा था कि COVID-19 हवा के माध्यम से प्रेषित नहीं होता हे, और ये यकीं दिलाया की ऐसा बोलना "गलत सूचना" को बढ़ावा देना हे (२८ मार्च, "FACT: COVID-19 हवा द्वारा प्रसारित नहीं है")। यह संदेश पूरी दुनिया ने स्पष्ट रूप से सुना और वायरस के संचरण पथ के बारे में यह बात कई लोगों के मन में घर कर गयी | दुर्भाग्य से, यह बात अभी भी वायरस के फैलाव को कम करने के हर कोशिश में प्राधान्य पाती हे, बावजूद इसके कि WHO ने इस बारे में अपना पक्ष काफी नरम कर दिया है और अब स्वीकार करता है कि SARS-CoV-2 का हवाई प्रसारण संभव है, भले ही वो अब भी यह मानते हैं यह बहुत महत्वपूर्ण प्रसारण का जरिया नहीं हे |

WHO ने अपने मार्गदर्शन में इस दौरान कुछ बदलाव किए हैं जो की वायु द्वारा प्रसारण मार्ग की उनकी सीमित मान्यता से उपजी है। हालांकि, अभी तक WHO के इस बारे में दी गई सीमित मार्गदर्शन को जनता तक ठीक से पहुँचाया नहीं गया हे | WHO की स्पष्टता में यह कमी और हवा द्वारा प्रसारण को हल्के में लेने के कारण नागरिक और नीति निर्धारक, यह मानकर चल रहे हैं कि अतिरिक्त सावधानी जरूरी नहीं है। हम जानते हैं कि यह गलत है। हम जानते हैं कि हाथ धोना, दूरी रखना, और मास्क लगाना पर्याप्त नहीं है।

WHO का कर्तव्य है कि वह दुनिया की सभी प्रासंगिक और उपलब्ध वैज्ञानिक सूचनाओं को लोगों तक स्पष्ट रूप में पहुंचायें | सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों पर अपने प्रभाव का उपयोग करते हुए, वायु द्वारा रोग के प्रसारण पर रोक पाने के लिए उचित जागरूकता और मार्गदर्शन जनता तक पहुंचाया जाना चाहिए | WHO को स्पष्ट रूप से बताना चाहिए कि घरों में वायु का प्रवाह क्यों जरूरी है और अपने मार्गदर्शन में परिवर्तन लाना चाहिए की घरों के अंदर, जब दुरी रखी जा सकती हो, तब भी मास्क पहने रखना जरुरी है | WHO की अस्पष्ट मार्गदर्शन भ्रम पैदा करती है और COVID-19 रोकने के दुनिया भर में उद्यम को धीमा करके गंभीर नुकसान पहुंचाती है।

SARS-CoV-2 का वायु द्वारा प्रसारण एक सत्य है। परिणामस्वरूप, कुछ देशों ने पहले ही इसे मान्यता दे दी है। कई अन्य देशों में, सूचित लोग पहले से ही अपने परिवारों और प्रियजनों की सुरक्षा के लिए उपाय कर रहे हैं, जिनमें वे वायु द्वारा प्रसारण पे भी ध्यान दे रहें है। हालांकि, सभी के पास समान संसाधन या जानकारी नहीं है। सभी तक ये जानकारी पहुंचे, इस के लिए एकमात्र तरीका है स्थानीय अधिकारियों के माध्यम से यह सुचना पहुंचाई जाये | उनमें से अधिकांश WHO की मार्गदर्शन का पालन करते हैं। इस वास्तविकता को देखते हुए, WHO से स्पष्ट मार्गदर्शन की कमी सामाजिक असमानताओं को बढ़ाने में योगदान करती है।

कार्यवाही का अनुरोध
हम, सभी विस्वबासी, WHO से निबेदन करते हैं के:

१. स्पष्ट रूप से स्वीकार करें कि SARS-CoV-2 वायु द्वारा प्रसारण के माध्यम से फैल सकती है, दोनों ही, कम दूरी में और कमरे के अंदर रहते हुए, जब लोग एक ही वायु में साँस ले रहे होते हैं | यह अब तक पाई गई अनेक सबूतों के अनुरूप है और एहतियाती सिद्धांत का पालन करता है।

२. बहु-विषयक विशेषज्ञों के परामर्श से तत्काल मार्गदर्शन विकसित करें, जिससे SARS-CoV-2 के हवाई प्रसारण में कमी लायी जा सके । इस मार्गदर्शन को बताना चाहिए कि उपयुक्त मास्क कैसे पहनना चाहिए जो चेहरे के चारों ओर अच्छी तरह से फिट हो, और जिसे घर के अंदर पहना जाना चाहिए क्योंकि घरों के अंदर, कोई भी दूरी सुरक्षित नहीं है; प्राकृतिक और वातानुकूलित हवा का प्रवाह कैसे बढ़ाया जासके, साथ ही वायु शोधन में सुधार कैसे करें; और अंगार काम्ल संसूचक का उपयोग कैसे किया जाये यह जानने के लिए पर्याप्त हवा का प्रवाह है की नहीं।

३. उच्च-जोखिम वाले कामो में कार्यरत कर्मियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले व्यक्तिगत सुरक्षात्मक उपकरणों के लिए तुरंत अपने मार्गदर्शन में बदलाव लाएं| विशेष रूप से, स्वास्थ्य सेवा कर्मी और नर्सिंग होम में, जहां SARS-CoV-2 का प्रसार न केवल कार्यकर्ता को प्रभावित करता है, बल्कि रोगियों और कमजोर समूहों को भी प्रभावित करता है। कम से कम एक फिट परीक्षित N95/FFP2 मास्क की सिफारिश की जानी चाहिए। SARS-CoV-2 के वायु द्वारा प्रसारण को स्वीकार करने में विफलता के कारण स्वास्थ्य कर्मियों को जोखिम में डाला जा रहा है।

४. WHO अपनी स्थिति का उपयोग इन संदेशों को जल्द ही और स्पष्ट रूप से जनता, सरकार और राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्वास्थ्य संस्थान तक पहुँचाने में करें, ताकि वे जीवन बचाने के लिए तुरंत कार्य कर सकें। SARS-CoV-2 के वायु द्वारा प्रसार को रोकने के लिए, एक व्यापक विज्ञापन अभियान के द्वारा दुनिया भर के सभी लोगों को सूचित करें कि वायरस कैसे वायु में फैलता है और घर से बहार की गतिविधियों को यथासंभव बढ़ावा देने से कैसे उसपे रोक लगाया जा सकता है | इसके विपरीत अपने पिछले कथनों का बेझिझक खंडन करें | मिश्रित संदेशों की वजह से, वायरस पे रोक लगा पाना मुश्किल हो रहा है, जिससे जाने भी जा रही है|

५. अंत में, WHO को उन सरकारों और अधिकारियों पर दबाव डालना चाहिए जो वैज्ञानिक रूप से आधारित दिशानिर्देशों के साथ अपनी सार्वजनिक सिफारिशों में समयोचित बदलाव नहीं ला रहे है और अपने नागरिकों के स्वास्थ्य और जीवन को खतरे में डाल रहे हैं।

 

#COVIDisAirborne | covidisairborne.org | covidisairborne@gmail.com | @COVIDisAirborne

0 have signed. Let’s get to 5,000!
At 5,000 signatures, this petition is more likely to get picked up by local news!