Electro Homeopathy Recognization

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 500 हसताकषर जुटाएं!


चिकित्सा के इलेक्ट्रोहोमियोपैथी प्रणाली पूरी तरह से होम्योपैथी से भिन्न है, इलेक्ट्रोहोमियोपैथी चिकित्सा पद्धति इटालियन बैज्ञानिक नोबल, काउंट सीजर मैटी के साथ बढ़ी, जिसने इटली के बोलोग्ना में सन 1865 में सच्चे इलेक्ट्रोहोमियोपैथी की स्थापना की। इलेक्ट्रो होम्यो पैथी सिस्टम ऑफ मेडिसिन सन 1920से भारत मे शिक्षा, अनुसन्धान ओर अभ्यास प्रचलित हैं इस 99 वर्ष लम्बी अवधि के दौरान इलेक्ट्रो होम्यो पैथी देस में दवा की स्थापित प्रणाली से कई कानूनी लड़ाई ओर आलोचको से लड़ने के बाद दवा की प्रणाली के रूप में बचे बर्तमान में माननीय सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश के अनुसार GO,25011/2076/2009स्वास्थ्य मंत्रालय के HRगवर्नमेण्ट के अनुसार भारत मे इलेक्ट्रो होम्यो पैथिक शिक्षण अभ्यास ,शिक्षण कानूनी रूप में संरक्षित है परन्तु राजस्थान सरकार को छोड़कर केन्द्रीय एवम अन्य राज्यों में कानून नही है इसलिए इस चमत्कारी चिकित्सा पद्धति में शिक्षा अभ्यास ओर अनुसंधान और विकास में कई बाधाओ का सामना करना पड़ता हैं तदनुसार भारत सरकार के निर्देशानुसर इलेक्ट्रो होम्यो पैथी सिस्टम को मान्यता के लिए देश के वरिष्ठ चिकित्सको एवम संस्थाध्यक्षयो द्वारा संयुक्त प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है यह भारत में 5 लाख से अधिक इलेक्ट्रोहोमियोपैथी डॉक्टरों की दवा की 5 वीं प्रणाली है। हमारी पैथी बहुत प्रभावी है यह पद्धति नए प्रयोगों के परिणाम है इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के क्षेत्र में कार्यरत लोंगो द्वारा इसे हर्बल पोधो पर आधारित चिकित्सा पद्धति माना जाता हैं भारत के लोकप्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में केंद्रीय सरकार द्वारा अपनी प्राचीन चिकित्सा पद्धतिओ को बढ़ावा दिया जा रहा है क्योंकि इलेक्ट्रो होम्यो पैथी चिकित्सा पद्धति में बीमारी को जड़मूल से उपचार करने की अनूठी विषेशता विद्यमान हैं तदनुसार रोगियों में नई आशा की किरण जागी है इस पैथी के साथ एक भी मृत्यु दर नहीं बताई गई। यह पैथी बहुत प्रभावी और बहुत ही किफायती है। हमारे पास सभी पुरानी और तीव्र बीमारी में आश्चर्य जनक परिणाम है। हमारी पैथी इतने असाध्य रोग का सफलतापूर्वक इलाज करने का प्रमाण है। हमें विकास और अनुसंधान कार्यों के लिए समर्थन सरकार नहीं मिल रही है, तो हमारे लाखों अभ्यासकर्ता दिन रात मानव जाति के लिए काम कर रहे हैं। कृपया, भारत में इलेक्ट्रोहोमियोपैथी चिकित्सा पद्धति की मान्यता के लिए हमारा समर्थन करें। यह आज की पीढ़ी की मांग है। कृपया हमारी मदद करें ताकि हमारी सरकार संवेदनशील हो सके ताकि लाखों गरीब लोग लाभ ले सकें। केवल एक मांग इलेक्ट्रोहोमियोपैथी मान्यता।
जय इलेक्ट्रोहोमियोपैथी जय हिन्द।