जब तक कोरोना खत्म नहीं होता तब तक स्कूल नहीं खोले जाएं

0 व्यक्ति ने साइन किए। 1,000 हस्ताक्षर जुटाएं!


भारत सरकार ने जुलाई में स्कूल खोलने की कवायद शुरू कर दी है और अगर जुलाई में स्कूल खुलते हैं तो ये ये सरकार की सबसे बड़ी गलती साबित होगी। सरकार ऐसे समय पर स्कूल खोलने जा रही है जब हम सब ये जानते हैं की कोरोना महामारी से बचने को कोई सटीक उपाय अभी उपलब्ध नहीं हैं।

कोरोना काल में स्कूलों ने ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के द्वारा बच्चों को शिक्षा प्रदान की और उसके सकारात्मक परिणाम भी आये और स्कूलों ने इस बात को माना भी। इन सब बातों को देखते हुए में मैं यही चाहूंगा की स्कूल ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को चालू रखें। जब तक कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं बन जाती या कोरोना के केस खत्म नहीं हो जातेतब तक सभी अभिभावकों से निवेदन है कि अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजें, क्या पता स्कूल भेजकर हम अपने बच्चों को किसी अनजान खतरे में डाल दें। बच्चे बहुत भोले होते हैं उन्हें ये सोशल डिस्टनसिंग, 2 गज की दूरी की समझ इतनी आसानी से नहीं आ सकती, पर ये समझ हमको तो है।

राज्य और केंद्र सरकार में बैठे मंत्रियों और शिक्षा विभाग के अधिकारियों से निवेदन है कि अभिभावकों की इस परिस्थति को समझें और इसका कोई उचित समाधान निकालें आखिर उनके भी बच्चें है क्या वो ऐसी परिस्थिति में अपने बच्चों को स्कूल भेजेंगे|