राजस्थान एन एच एम् कार्मिको को अनुभव आधारित मानदेय वृद्धि - लॉयल्टी लाभ

राजस्थान एन एच एम् कार्मिको को अनुभव आधारित मानदेय वृद्धि - लॉयल्टी लाभ

0 have signed. Let’s get to 100!
At 100 signatures, this petition is more likely to be featured in recommendations!
NHM RAJASTHAN KARMIK MAHASANGH started this petition to मुख्य मंत्री राजस्थान  and

आदरणीय मुख्य मंत्री जी  ,राजस्थान 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, केंद्र सरकार और राज्य सरकार के बीच हुए अनुबंध के अनुसार 60 और 40 के अनुपात में आर्थिक भागीदारी है। 60% केंद्र सरकार का और 40% राज्य सरकार का;  केंद्र सरकार ने वर्ष 2017 में पूरे देश में सभी राज्यों को यह पॉलिसी के तहत निर्णय लेने के लिए कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत संविदा कार्मिकों को 3 वर्ष के कार्यकाल के बाद 10% का वेतन वृद्धि और 5 वर्ष के बाद 15 प्रतिशत वेतन वृद्धि का लाभ मिलेगा।  इस नीति निर्णय के बाद उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल ,जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, केरल ,पंजाब और गुजरात  आदि ने केंद्र सरकार द्वारा दिए गए  दिशा निर्देशों के अनुसार अपने राज्य के  एन एच एम  संविदा कार्मिकों को लाभ दिया।

इन सभी राज्यों के आदेशों को देखने के बाद सभी में एकरूपता नजर आती है. सभी राज्यों ने जिस नीति या सिद्धांत को अपनाया है वह निम्न प्रकार है--

 1 एनएचएम के ऐसे संविदा कर्मी जिन्होंने 31  मार्च 2017 को 3 वर्ष की सेवा पूरी कर ली है उन्हें 10% तथा जिन्होंने 5 वर्ष की सेवा पूरी कर ली है उन्हें 15% की दर से 1 अप्रैल 2017 को लॉयल्टी बोनस या अनुभव बोनस दिया गया। 

 2 संविदा कर्मी द्वारा निर्धारित तिथि को 3 वर्ष पूर्ण करने पर 10% तथा 5 वर्ष पूर्ण करने पर 15% उनके द्वारा 31 मार्च 2017 के मानदेय में जोड़ा जाएगा तथा यह अप्रैल 2017 से दिए जाने वाले मानदेय का भाग होगा

3   क्योंकि संविदा कार्मिकों की भर्ती एक सतत प्रक्रिया है अतः जिन कार्मिकों ने तिथि(DATE OF JOINING ) से 1 अप्रैल 2017 के बाद एवं 31 मार्च 2018 के पहले की तिथि में 3 वर्ष या  5 वर्ष की सेवा पूरी की है उन्हें जिस माह  में उन्होंने यह शर्त पूरी की है उनके अगले माह से लॉयल्टी बोनस का लाभ मिलेगा अर्थात यदि किसी ने 1 जुलाई 2017 को यह शर्त पूरा किया है उसे अगस्त 2017 से लाभ मिलेगा इस प्रकार जिन्होंने 1 मार्च 2018 के बाद इस शर्त को पूरा किया है उन्हें वित्तीय वर्ष(2018 ) में लाभ नहीं मिलेगा। लाभ 1  अप्रैल 2019 , 1 अप्रैल 2020  एवं 1 अप्रैल 2021 में मिलता रहेगा। 

राजस्थान राज्य में एनएचएम संविदा कर्मी को को दिए जा रहे हैं लॉयल्टी बोनस(अनुभव आधारित मानदेय वृद्धि) पर प्रस्तावित संशोधन (Press Note 26 /8/2020 /मीडिया में छपी खबरों के आधार  पर )

1) लॉयल्टी बोनस को वर्ष 2012-13 एवं2013- 14 में मानदेय वृद्धि का लाभ नहीं मिलने से जोड़ना पूर्ण अतार्किक है, यह आधार कहीं भी भारत सरकार द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों के अनुसार नहीं है। इस अतार्किक शर्त को लगाए जाने के कारण  8000 संविदा  कर्मियों को इस मानदेय वृद्धि से वंचित किया जा रहा है l

(2 ) राशी  की  गणना 31 मार्च 2020 से की जा रही है जो कि स्वीकार्य नहीं है,  बोनस के कारण मानदेय वृद्धि की गणना 1 अप्रैल 2017 से ही दी जानी चाहिए जैसा कि भारत देश में  अन्य राज्यों के आदेश इसी आधार पर है 

(3)  एनएचएम के तहत संविदा पर कार्यरत  को लॉयल्टी  बोनस का लाभ  डेट ऑफ जॉइनिंग की तिथि से 3 वर्ष या 5 वर्ष की सेवा पूरे करने पर भी मिलना चाहिए जैसा कि भारत देश में  अन्य राज्यों के आदेश इसी आधार पर है .

एक देश  में एक निति की पालना में भेदभाव के कारण राजस्थान के करीब 8000 एन एच एम्  संविधा अलप वेतन कार्मिक  विधिक लाभ से वंचित  हैं मतलब आधे  ज्यादा एन एच एम् कार्मिक को लाभ नहीं मिलेगा।

अतः श्रीमान से निवेदन है कि   उपरोक्त अनुसार सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए 31 मार्च 2017 एवं उसके बाद आगामी वर्षों में 3 या 5 साल की सेवा पूर्ण करने वाले सभी संविदा कार्मिकों को  पॉलिसी के तहत 10% एवं 15% अनुभव आधारित मानदेय वृद्धि मासिक मानदेय में जोड़ कर  दिया जाए ।

प्रार्थी

एनएचएम संविदा कर्मी राजस्थान

 

0 have signed. Let’s get to 100!
At 100 signatures, this petition is more likely to be featured in recommendations!