Why There Is No Fatwa's For Islamic Radicalisation By Any Islamic Religious Institution

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


  1. आज कल हम देखते है, अनेको ऐसे इस्लामिक संघटनाये ओर कुछ इस्लाम के जानकार मौलाना हर बात पर फ़तवा  निकाल देते है की ये होना चाहिए ये नहि होना चाहिए इसपे प्रतिबंध लगना चाहिए इन इन बातो को मुस्लिम बेहने ना करे इससे इस्लाम की तोहीन होंगी वगैरा वगैरा.
  2. लेकिन कभी सोचा है ये सभी संघटनाये ओर लोग इस्लामिक आतंक ओर उनके सरगनाहो आंतकियो पे कोई फ़तवा नही निकालते.तो इस दोगलेपन को खत्म करके मुस्लीम समाज के फतवा जारी करने वाले इन मौलानाओ ओर संघटनो ने अपना रुख आतंक के प्रति साफ़ रखना चाहिए.
  3. क्योकि जब कोई बड़ा ओर जानकार अपनी बात अपने लोगो के एवं समाज के भीतर प्रस्तुत करता है तो उसका नकारात्मक ओर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है .
  4. तो मेंरी सभी भारतीय राष्ट्रवादी सोच रखने वाले समाज के सभी अंग से आने वाले सभी घटकों से ये विनंती है की इन सभी को मजबूर करे की ये अपना दोगला रवैया खत्म करके फ़तवा इन आतंकियो के खिलाफ भी जारी करे .PLZ SUPPORT MY PETITION   


आज — Ashutoshsinh आप पर भरोसा कर रहे हैं

Ashutoshsinh Parmar से "All religious islamic organisations or those who broadcast Fatwa's : Why There Is No Fatwa's For Islamic Radicalisation By Any Islamic Religious Institution" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। Ashutoshsinh और 6 और समर्थक आज से जुड़ें।