आरक्षण आर्थिक आधार पर हो न कि जातिगत

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


हर वर्ग के लोग जो आर्थिक आधार पर कमजोर है।

आरक्षण क सबसे ज्यादा प्रभावित गांवों में देश के लोग हैं जिन्हें मिलना चाहिए उन्हें नहीं मिल रहा है जो पहले से आर्थिक मजबूत है उन्हीं के परिवार के लोग आरक्षण क आज भी लाभ ले रहे हैं जो पूर्णतया बंद हो।