गंगा बचाओं

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 500 हसताकषर जुटाएं!


गंगा नदी का उद्गम स्थान हिमालय पर्वत है जो कि उत्तराखंड होते हुए 11 राज्य से गुजराती हुई बंगाल की खाड़ी में मिलती है । आज गंगा को हम प्रदूषित होते हुए देख रहे है । गंगा के बिना जीवन संभव नही है । इसलिए हमारा प्रयास है कि आप इस कार्य मे सहयोग करे ताकि गंगा पे काम कर सके । हमारा लक्ष्य है कि 2 करोड़ पेड़ लगाये जाए ताकि गंगा को सुरक्षित कर सके । एक पेड़ के लिए 99 रुपये का सहयोग जरूर करे  ।