स्कूलों की शिक्षा गुणवक्ता में सुधार लाने के हस्ताक्षर करें

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


किसी देश और व्यक्ति का विकास शिक्षा के विकास के बिना संभव नही है ,आइये भारत की बदहाल शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन लाने के लिए सरकार से मांग करें

परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की संख्या पूरी की जाए

स्कूलों में बैठने के लिए फर्नीचर की व्यवस्था की जाए 

बच्चों को मिलने वाली मुफ्त किताब को छुट्टी के महीने में ही उपलब्ध करवा दिया जाए ,अभी तक 60 प्रतिशत स्कूलों में किताबें नही पंहुच पाई हैं।

बेशिक स्तर से कंप्यूटर की शिक्षा अनिवार्यता के विषय मे रखी जाए।

यदि परिषदीय विद्यालयों की शिक्षा गुणवक्ता में सुधार लाया जाता है तो भ्रष्टाचार और अज्ञानता पर नियंत्रण होगा क्योंकि जब लोग पढ़ लिखकर जागरूक होंगे।तो वें अपने हक अधिकार को समझेंगे और स्थानीय प्रशासन एवं सरकार से विसंगतियों में बदलाव की मांग करेंगे।