भिखारी प्रथा बन्द करें।

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


मित्रो,
भिखारी को (खाना+पानी) तो देंगे पर एक भी रुपया भीख नही देंगे।

हम शपथ ले कि आज से भीख मांगते हुए किसी भी प्रकार के(स्त्री/पुरुष/बुजुर्ग/अपंग/बच्चे) भिखारी को (खाना+पानी) तो देंगे पर एक भी रुपया भीख नही देंगे।


इससे होगा ये की "अंतरराष्ट्रीय/राष्ट्रीय/ राज्यकीय स्तर पर भिखारियों" की टोली चलाने वाले गुटों की आर्थिक रूप से कमर टूट जाएगी एवं छोटे बच्चों के अपहरण जैसी वारदाते अपने आप बंद हो जाएंगी।

गुनाहगारों की दुनिया से इस तरह के दलों का अंत हो सकेगा।