समान काम के लिए समान वेतन, एक संवैधानिक अधिकार

0 व्यक्ति ने साइन किए। 200 हस्ताक्षर जुटाएं!


बिहार के विद्यालयों में दो कैडर के शिक्षक हैं- एक शिक्षक वो, जो नियमित है दूसरा वो जो नियोजित हैं। दोनो शिक्षकों को एक ही विद्यालय में रखकर, एक समान कार्य, एक समान समय, एक समान जिम्मेदारी के साथ, नियमित शिक्षकों को न्यूनतम 60 से 70 हजार रुपये प्रति माह, जबकि नियोजित शिक्षकों को न्यूनतम 19000 रुपये प्रति माह वेतन दिया जाता है। कृपया हमारी मदद करें। मुझे आपसे निम्नांकित सवालों का जबाब "हाँ" या "नही" में चाहिए।

  1. क्या यह उचित है?
  2. आप दो मजदूर से, एक हीं स्थान पर, एक हीं समान काम, एक हीं समान समय में, कोई काम करायेंगे तो क्या एक को 500 रुपये और दूसरे को 150 रुपये देंगे?
  3. अगर देंगे तो क्या वह मजदूर लेने को तैयार होगा?
  4. क्या यह तर्कसंगत और न्यायपरक है?
  5. क्या दोनो मजदूर की मजदूरी और दोनो कैडर के शिक्षकों के एक वेतन समान नही होना चाहिए?
  6. क्या आप हमारी मदद करना चाहते हैं?
  7. क्या बिहार सरकार को समान काम के बदले समान वेतन नही देना चाहिए?

अगर आप हमारी मदद करना चाहते हैं, तो कृपया इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाएं।