सभी सस्कूलों की फीस माफ हो

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है सभी सरकारोँ ने अपने देश की अर्धव्यवस्था के हिसाब से लोगो को पैसे दे रही है और भी बहुत सारी सुविधाएं भी दे रही हैं। भारत सरकार ने भी दी है क्या  प्राइवेट स्कूलों की फीस माफ नही होनी चाहिए इस समय जब स्कूल भी बंद है तो  फीस भी क्यों ली जा रही हैं जबकि  स्कूलों के बिजली बिल माफ कर रही हैं सरकार ? क्या सरकार सिर्फ अमीर आदमी की है गरीबो की नही है ? साथ मे सरकारी स्कूलों में पढा रहे अध्यापकों की भी तनख्वाह काटी जाए । सरकार को ये नियम बनाने चाहिये कि जब तक स्कूल खुलेंगे जब तक ही फीस लगेगी और अध्यापकों भी उनकी तनख्वाह मिलेगी। प्राइवेट स्कूलों में तो है जब तक स्कूल चालू रहते हैं जब तक ही उनको उनकी तनख्वाह मिलती हैं परंतु सरकारी स्कूलों में नही है। जबकि प्राइवेट स्कूल वाले बच्चों से फीस पूरे साल की ले लेते हैं ऐसा नही होना चाहिए ये बहुत नाइंसाफी हैं गरीव लोगो के साथ । सभी अध्यापकों की तनख्वाह भी उसी हिसाब से मिले जितने दिन वो पढ़ाते है । आप सभी लोग अपनी अपनी राय जरूर दे और इस पेटिशन को ज्यादा से ज्यादा शेयर भी करे ताकि लोगो का भला हो सके चंद लोगो ने देश की अर्धव्यवस्था की हालत गंभीर कर रखी हैं । ऐसा होने से देश के पास बहुत पैसे की बचत होगी । सरकारी स्कूल में न तो पढ़ाई होती है अच्छे से न ही इंफ्रास्ट्रक्चर अच्छा होता हैं बस अध्यापकों को तनख्वाह अच्छी मिलती हैं। जबकि प्राइवेट स्कूलों में इन्फ्रास्ट्रक्चर अच्छा होता हैं पढ़ाई भी अच्छी होती है । सरकार को और हम सब को इस पर विचार करने की जरूरत हैं