हमें ट्विंकल के लिए इन्साफ चाहीये

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


नमस्ते.... ।। 

आज बहुत ही दुख के साथ ये कहना पड रहा है कि जिस देश में बेटी बचाओ बेटी पढा ओ का ग्यान दिया जाता है वहीं दूसरी तरफ उसी बच्ची को दरिंदगी से उनका शोसढ किया जा रहा है। 

जस्टिस के नाम पर एक वील पास कर के ईन बच्चियों मजाक बनाया जा रहा है। 

हम अपने भारतीय सर्कार से निवेदन करते हैं। के कोर्ट को आदेश दिया जाये के किसी भी कारण से ADJURUN अगली तारीख ना दिया जाये। Speedy Trial कर के ईन दरिंदों को मौत की सजा सुनाई जाये।