महंगा इंटरनेट डाटा मंजूर नहीं, दाम घटाएं कंपनियां

हाल ही में सभी मोबाइल अापरेटर कंपनियों द्वारा मोबाइल डाटा के दाम बढा दिये गये हैं । एक कंपनी का जो इंटरनेट पैक पहले 58 रुपये में 2GB मिलता था वो अब 155 रुपये में 1GB रह गया था। पिछले हफ्ते कम्पनी ने दाम फिर बढा दिये हैं । अब 155 रुपये में 500MB डाटा ।

इतना ही नहीं ये कंपनियां वेलिडिटी 28 दिन (4 हफ्ते) 14 दिन (2हफ्ते) 7 दिन (1 हफ्ता ) ही देती हैं। जबकि यह एक माह होनी चाहिए। ये कंपनियां इसलिए बेजा फायदा उठाती हैं क्योंकि भारत में लोग इसके बारे में जागरूक नहीं हैं। इंग्लैण्ड में एक बार एक कम्पनी ने दाम बढाये तो इंग्लैण्ड के लोगों ने कुछ दिन उसका डाटा ही खरीदना बंद कर दिया। मजबूरन कम्पनी को दाम वापस कम करने पड़े।

भारत की जनता की अावाज तो अौर तेज उठनी चाहिए। मोबाइल अापरेटर कंपनियों द्वारा मनमानी करने के खिलाफ उठाए गए मेरे इस मुद्दे पर हस्ताक्षर करें।

जरा सोचिए, अगर भारत में एक व्यक्ति प्रतिदिन न्यूनतम 10 रुपये का इन्टरनेट इस्तेमाल करता है अौर 20 करोड़ लोग उपभोक्ता है तो कम्पनियों को प्रतिदिन करीब 2 अरब रुपये की आमदनी होती है।। आज के समय में इंटरनेट हमारे लिए ज़रूरी है लकिन इसका यह मतलब नहीं है कि इसका फायदा उठाकर मोबाइल कंपनी जितना चाहे उतना पैसा हम लोगों से ऐंठ सकती हैं।

मेरे उठाए मुद्दे पर अाप सभी का समर्थन मिले तो हम मिल कर इऩ कंपनियों को मनमानी रोकने पर विवश कर सकते हैं।  अब आपके मन में ये सवाल उठ रहा होगा कि यह online internet petition क्या है?? इसके तहत आप किसी व्यक्ति को डिजिटल हस्ताक्षर अभियान चलाकर उसे किसी बात को बदलने का निवेदन करते हैं।

मैं भी वही कोशिश कर रहा हूं।

यदि आप मेरी बात से सहमत हैं तो अपने कीमती हस्ताक्षर ज़रूर करें और इसके बारे में ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को सूचित करें।।

 

This petition will be delivered to:
  • दूरसंचार मंत्रालय, भारत सरकार
    रविशंकर प्रसाद, मंत्री
  • वोडाफोन
  • एयरटेल
  • रिलायंस कम्युनिकेशन
  • एमटीएस
  • TRAI


paras maan started this petition with a single signature, and now has 1,288 supporters. Start a petition today to change something you care about.