वीरगति पाने वाले CRPF के जवानों को भी शहीद का दर्जा मिले.

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


बहुत हैरानी की बात है कि अगर किसी आतंकी हमले में सीआरपीएफ, बीएसएफ या पैरामिलिट्री फोर्स का जवान वीरगति को प्राप्त होता है तो उसे सेना के जवान की तरह से शहीद का दर्जा नहीं दिया जाता है. इतना ही नहीं सेना के शहीद जवान के परिवार को मिलने वाले मुआवजे और दूसरी सुविधाएं जैसे लाभ भी पैरामिलिट्री फोर्स के जवान के परिवार को नहीं मिलती हैं. यह भेदभाव ख़त्म होना चाहिए. हमारे लिए सभी फ़ोर्स एक हैं. किसी भी फ़ोर्स का जवान शहीद हो उसकी शहादत कम या ज्यादा नहीं हो सकती. सरकार को कानून बनाकर वीरगति पाने वाले हर सैनिक को शहीद का दर्जा देना चाहिए.