रजिस्टर आफ सिटीजन

0 have signed. Let’s get to 100!


जिस तरह आसाम मेंं रजिस्टर आफ सिटीजन द्वारा चालीस लाख बंग्लादेशियो का पता चला ।उसी प्रकार हम भी मिलकर ये आन्दोलन करे कि देश के बाकी राज्यों में भी ये रजिस्टर लाया जाए क्योंकि बंग्लादेशियो के साथ देश मे और भी घुसपैठिए घुसे हुए है ..इसमेँ सबसे बुरा हाल दिल्ली का है जो देश की राजधानी है..दिल्ली को आज घुसपैठियों ने बारूद के ढेर पर बैठा दियाहै..पाकिस्तानी.. अफगानी काबुली..बंग्लादेशियो.. रोहिंग्या मुसलमान.. नाइजीरियाई लोग..दुनियाभर के घुसपैठिए.आज राजधानी को निशाना बनाए हुए है।।सभी राज्यों के लोग अपने अपने यहां से भी पीटिशन डालें.. और देश के सफाई अभियान मे ये पीटिशन साईन करके हमारा साथ दें।रजिस्टर आफ सिटीजन हर राज्य मे लाया जाए यही हमारी केन्द्र सरकार से मांग है।वंदे मातरम