वाहन से होने वाली परेशानियां

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


 

मेरा नाम प्रशांत है। निवास स्थान ईस्ट ऑफ कैलाश लाजपत नगर। सीधे मुद्दे की बात करता हूँ।

हम जिसे नई दिल्ली कहते हैं देश की राजधानी कहते हैं।सही मायने से देखा जाए तो बस पार्लियामेंट,इंडिया गेट,अशोका रोड़, सचिवालय है या कुल मिलाकर कहें तो जो नई दिल्ली होनी चाहिए वो सिर्फ सेंट्रल दिल्ली है। क्योंकि वहाँ न तो आप अपनी गाड़ी खड़ी कर सकते हैं सड़क पर न आप यातायात का उलंघन कर सकते हैं।वहाँ हर रेड लाइट पर सीसीटीव कैमरे लगे होते हैं। रात को वही दिल्ली का हिस्सा रोशन और जगमगा रहा होता है।वहाँ आपको सड़क किनारे ठेली वाले नही दिखेंगे और होंगे भी तो मान्यता प्राप्त वाले कुछ गिने चुने।वहाँ सामान्य रूप से जाम भी नही लगता। वहाँ आपको सड़को पर कूड़ा नही मिलेगा। तो इन सब को देखते हुए। मैं आपको दिल्ली के कुछ और भाग से जोड़ना चाहता हूं।

अब मैं आपको सीधा ले चलता हूँ साउथ दिल्ली मैं यहीं का निवासी हूँ। यहाँ आप देखो तो

1. अस्पताल है नेशनल हार्ट इंस्टिट्यूट यहाँ से आप संत नगर होते हुए नेहरू प्लेस जाओगे तो 2 लेन की सड़क है जो 1 से भी कम की लेन बनी हुई है।

2 कालकाजी,गोविंद पूरी, चितरंजन पार्क,ग्रेटर कैलाश,अमर कॉलोनी,गढ़ी नीम चौक,डबल स्टोरी,का भी यही रोना है और फिर ट्राफिक जाम।

3. किसी को ज्यादा मतलब नही है रेड लाइट से बस उसे जगह चाहिए निकलने के लिए।

4.डीटीसी बस कभी भी अपने स्टैंड के पास नही रुकती हमेशा बीच सड़क पर रुकती हैं।और ऐसा नही है कि कुछ 95% ऐसा है।

5.जो लोग सड़क को कौन समझ कर कार पार्किंग करते हैं उन्हें औरों से कोई मतलब नही और फिर लगता है जाम।

6.सड़क पर खड़ी हर गाड़ी का चालान अनिवार्य होना चाहिए। तभी ट्रैफिक की समस्या का समाधान होगा।

7.मेरा दिल मेरा मन व्यथित होता है जब मैं किसी एम्बुलेंस को ट्रैफिक में फसे हुए देखता हूँ। एम्बुलेंस के साईरन की आड़ में लोग जगह नही देते बल्कि सोचते हैं कि इस वजह से वो अपनी मंज़िल पर जल्दी पोहोच जायँगे। 

8.यातायात की ये बहुत बड़ी असफलता है जिससे रोज़ लोग जूझ रहे हैं। 

9.और रही सही कसर सड़क किनारे पान के खोके या खाने पीने के स्टाल लगाने वालों ने दिक्कत परेशानी कर रखी है। हालात बद से बत्तर हैं। जीवनशैली ऐसी नही होनी चाहिए। 

आपसे अनुरोध है इस समस्या का निदान जल्द से जल्द करें क्योंकि इसकी वजह से लोग बहुत परेशान है। 



आज — प्रशांत आप पर भरोसा कर रहे हैं

प्रशांत भारतीय से "दिल्ली सरकार: वाहन से होने वाली परेशानियां" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। प्रशांत और 47 और समर्थक आज से जुड़ें।