मर्यादा का उल्लंघन

0 व्यक्ति ने हसताकषर गये। 100 हसताकषर जुटाएं!


चुनाव जीतने के लिये नेता कई बार भाषा की मर्यादा पार करते है,  नेताओं को पता होता है कि उन पर कङी कार्यवाही नहीं होगी । ये सिलसिला चलता रहता है ।

आगे से नेता अपनी जबान को काबू मे रखे इसलिए चुनाव आयोग को चाहिए कि ऐसे बदजुबान नेताओ का नामांकन रद्द करे और दस साल तक राजनीति से दूर रहने का दंड दे  फिर देखे नेताओ की बेशर्म जबान , शालीन हो जायेगी । समय है कठोर कदम उठाये ।

संगीताराजपूत 



आज — संगीता आप पर भरोसा कर रहे हैं

संगीता राजपूत से "चुनाव आयोग: मर्यादा का उल्लंघन" के साथ आपकी सहायता की आवश्यकता है। संगीता और 14 और समर्थक आज से जुड़ें।