मर्यादा का उल्लंघन

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


चुनाव जीतने के लिये नेता कई बार भाषा की मर्यादा पार करते है,  नेताओं को पता होता है कि उन पर कङी कार्यवाही नहीं होगी । ये सिलसिला चलता रहता है ।

आगे से नेता अपनी जबान को काबू मे रखे इसलिए चुनाव आयोग को चाहिए कि ऐसे बदजुबान नेताओ का नामांकन रद्द करे और दस साल तक राजनीति से दूर रहने का दंड दे  फिर देखे नेताओ की बेशर्म जबान , शालीन हो जायेगी । समय है कठोर कदम उठाये ।

संगीताराजपूत