नए कृषि कानून को रद्द करें।

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


M kisan ka beta hu,or ye kanoon kisan k hit me nhi hai.so in kanuno ko jld se jld radd kiya jaye. dhanyavaad.