Petition Closed
Petitioning राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय श्री नारायणसामी and 7 others
This petition will be delivered to:
राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय
श्री नारायणसामी
केंद्रीय जांच ब्यूरो के निर्देशक
श्री ए पी. सिंह
भारत के राष्ट्रपति
श्री प्रणव मुखर्जी
गृह मंत्रालय के सचिव
श्री राज कुमार सिंह
राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग
श्री केजी बालकृष्णन
कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के सचिव
श्री पी.के. मिश्रा
मंत्रालय विज्ञान और प्रौद्योगिकी के सचिव
डा. महाराज कृष्ण भान
भारत के प्रधानमंत्री
श्री मनमोहन सिंह

आरुषि और हेमराज के लिए न्याय

आरुषि, तलवार दम्पति की एकलौती पुत्री का क़त्ल उन्हीं के नोयडा स्थित फ़्लैट में 15 - 16 मई, 2008 की मध्य रात्रि को, उसके 14 वें जन्म के तकरीबन एक हफ़्ते पहले कर दिया गया | उनके घरेलु नौकर हेमराज की लाश दूसरे दिन 17 मई, बिल्डिंग की छत पर मिली |

मामला पहले उ.प्र. पुलिस देख रही थी .. बाद में CBI को मामला जांच के लिए सौंप दिया गया l .उ.प्र. पुलिस, ने बेहद गैर-जिम्मेदाराना व गैर-पेशेवर तरीके से मामले की जांच की.. यहाँ तक कि समुचित तरीके से मौक़ा-ए-वारदात से सबूत एकत्र भी नहीं किये | अपनी इन खामियों को ढांकने के लिए पीड़ित माँ-बाप को ही क़त्ल का दोषी ठहरा दिया |

बहरहाल ‘पहली CBI टीम’ ने वैज्ञानिक तहकीकात व तफ्शीश के बाद उ.प्र. पुलिस के माँ-बाप को कातिल ठहराने के तर्क और दलील को ठुकरा दिया तथा‘तलवार दम्पति’ के कंपाउंडर कृष्णा के खिलाफ क़त्ल के पुख्ता सबूत होने का दावा किया |

इसी बीच, किन्हीं कारणों से ‘पहली CBI टीम’ की जगह एक ‘दूसरी CBI टीम ’को दे दी गई | ‘दूसरी CBI टीम’ ने ‘पहली CBI टीम’ के निष्कर्ष को नज़र-अंदाज़ करते हुए ‘नोयडा पुलिस की थ्योरी’ पकड़ ली और साक्ष्य के अभाव में, हेरफेर से माता पिता को फंसायाI

यह एक अभूत पूर्व स्थिति है जहां निर्दोष माता पिता को अपमानित किया गया, महीनों जेल में बंद किया गया और वह वर्तमान में परीक्षण के दौर से गुज़र रहे हैं | वास्तविक अपराधी अभी भी खुले आम घूम रहे हैं | हम इस दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति से निर्दोष माता पिता को बचाने की अपील करते हैं |

‘दूसरी CBI टीम’ के दुर्भावनापूर्ण रवैये के कुछ उदाहरण व तथ्य निम्न है :

1. CBI ने CDFD की एक अहम रिपोर्ट को, जो कि नवंबर, 2008 में प्रस्तुत की गई, जिसमे कृष्णा के तकिये पर हेमराज़ के खून के निशान पाये गये,  झुठलाने की कोशिश की | CBI ने इस महत्वपूर्ण सबूत और कृष्णा के नारको टेस्ट (कृष्णा ने नार्को के दौरान अपराध कबूल किया) के बारे में ‘क्लोज़र रिपोर्ट’ में जान बूझ कर नहीं लिखा | ‘क्लोज़र रिपोर्ट’ दिसम्बर, 2010 में दाखिल की गई, जब कोर्ट के संज्ञान में ये बातें लाई गई तो उसे CBI ने टाइपिंग गलती बताकर खारिज कर दिया |

2. ‘पहली CBI टीम’ ने कृष्णा व उसके साथियों को वैज्ञानिक जांच के बाद गिरफ्तार किया था, लेकिन ‘दूसरी CBI टीम’ ने कृष्णा व उसके साथियों के खिलाफ वैज्ञानिक जांच के बाद मिले सबूतों को नज़र-अंदाज़ किया और उन्हें क्लीन चिट दे दी |

3. ‘कृष्णा’ के कमरे से मिली खुकरी,जो असली कातिल तक पहुँचने में सहायक हो सकती थी, उसको डीएनए विश्लेषण के लिए CDFD नहीं भेजा |

4. ‘दूसरी CBI टीम’ ने दुराग्रह पूर्ण तरीके से तलवार दम्पति को निर्दोष साबित करने वाले तमाम सबूत, जो ‘पहली CBI टीम’ ने हासिल किये थे, को दबाने की कोशिश की | CBI ने जान बूझकर ‘साउंड टेस्ट’ के बारे में क्लोज़र रिपोर्ट में नहीं लिखा और वैज्ञानिक परीक्षण निचली अदालत में प्रस्तुत नहीं कियेI

दोनों सी बी आई टीमों के बिलकुल विपरीत निष्कर्षों के कारण, हमारी मांग है कि एक स्वतंत्र व निष्पक्ष जांच कराई जाये |

यह आवश्यक है कि .. जिन सबूतों से पता चलता है की ‘माता पिता’ निर्दोष हैं ... और कृष्णा और उसके साथी दोषी हैं, उन सबूतों से छेड़छाड़ न होने दी जाये |

‘CBI की दूसरी टीम’ ने गलत तथ्यों के साथ मीडिया को सूचित किया, जिससे जनता के मन में ‘तलवार दम्पति’ की ग़लत छवि बन गई, साथ ही अदालतों को गुमराह किया |

चिंताजनक बात यह है कि ‘तलवार दम्पति’ की छवि खराब करने के इलावा वे 'आरुषि के लिए न्याय' के मुख्य उद्देश्य से भटक गए हैं |

आरुषि को कभी शांति नही मिलेगी अगर उसके माता पिता को गलत तरीके से फ़साया जाएगा |

हमारे न्याय के इस अभियान में इस याचिका पर हस्ताक्षर करके, आरुषि और हेमराज की मदद करें |

अधिक जानकारी के लिए वेबसाइट पर जाएँ | www.justiceforaarushitalwar.com

कृपया हमारे Facebook Page में शामिल हों | https://www.facebook.com/#!/gatjustice

इसके अलावा, Twitter पर भी शामिल हों | @Justice4Aarushi


Letter to
राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय श्री नारायणसामी
केंद्रीय जांच ब्यूरो के निर्देशक श्री ए पी. सिंह
भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी
and 5 others
गृह मंत्रालय के सचिव श्री राज कुमार सिंह
राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग श्री केजी बालकृष्णन
कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के सचिव श्री पी.के. मिश्रा
मंत्रालय विज्ञान और प्रौद्योगिकी के सचिव डा. महाराज कृष्ण भान
भारत के प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह
आरुषि और हेमराज के लिए न्याय

आरुषि, तलवारदम्पतिकीएकलौतीपुत्रीकाक़त्लउन्हींकेनोयडास्थितफ़्लैटमें 15 - 16 मई, 2008 कीमध्यरात्रिको, उसके 14 वेंजन्मकेतकरीबनएकहफ़्तेपहलेकरदियागया | उनकेघरेलुनौकरहेमराजकीलाशदूसरेदिन 17 मई, बिल्डिंगकीछतपरमिली |

मामलापहलेउ.प्र. पुलिसदेखरहीथी .. बादमें CBI कोमामलाजांचकेलिएसौंपदियागया l .उ.प्र. पुलिस, नेबेहदगैर-जिम्मेदारानावगैर-पेशेवरतरीकेसेमामलेकीजांचकी.. यहाँतककिसमुचिततरीकेसेमौक़ा-ए-वारदातसेसबूतएकत्रभीनहींकिये | अपनीइनखामियोंकोढांकनेकेलिएपीड़ितमाँ-बापकोहीक़त्लकादोषीठहरादिया |

बहरहाल ‘पहली CBI टीम’ नेवैज्ञानिकतहकीकातवतफ्शीशकेबादउ.प्र. पुलिसकेमाँ-बापको कातिल ठहराने केतर्कऔरदलीलकोठुकरादियातथा‘तलवारदम्पति’ केकंपाउंडरकृष्णाकेखिलाफक़त्लकेपुख्तासबूतहोनेकादावाकिया |

इसीबीच, किन्हींकारणोंसे ‘पहली CBI टीम’ कीजगहएक ‘दूसरी CBI टीम’को देदीगई | ‘दूसरी CBI टीम’ ने ‘पहली CBI टीम’ केनिष्कर्षकोनज़र-अंदाज़करतेहुए ‘नोयडापुलिसकीथ्योरी’ पकड़लीऔरसाक्ष्यकेअभावमें,हेरफेरसेमातापिताकोफंसायाI


यहएकअभूतपूर्वस्थितिहैजहांनिर्दोषमातापिताकोअपमानितकियागया, महीनोंजेलमेंबंदकियागयाऔर वह वर्तमानमेंपरीक्षणकेदौरसेगुज़ररहेहैं | वास्तविकअपराधीअभीभीखुलेआमघूमरहेहैं | हमइसदुर्भाग्यपूर्णस्थितिसेनिर्दोषमातापिताकोबचानेकीअपीलकरतेहैं |

‘दूसरी CBI टीम’ केदुर्भावनापूर्णरवैयेकेकुछउदाहरणवतथ्यनिम्नहै :

1. CBI ने CDFD कीएकअहमरिपोर्ट, जोकिनवंबर, 2008 मेंप्रस्तुतकीगई, जिसमेकृष्णाकेतकियेपरहेमराज़केखूनकेनिशानपायेगये, कोझुठलानेकीकोशिशकी| CBI नेइस महत्वपूर्णसबूतऔरकृष्णाकेनारकोटेस्ट (कृष्णानेनार्कोकेदौरानअपराधकबूलकिया) केबारेमें ‘क्लोज़ररिपोर्ट’ मेंजानबूझकरनहींलिखा | ‘क्लोज़ररिपोर्ट’ दिसम्बर, 2010 मेंदाखिलकीगई, जबकोर्टकेसंज्ञानमेंयेबातेंलाईगईतोउसे CBI नेटाइपिंगगलतीबताकरखारिजकरदिया |

2. ‘पहली CBI टीम’ नेकृष्णावउसकेसाथियोंकोवैज्ञानिकजांचकेबादगिरफ्तारकियाथा, लेकिन ‘दूसरी CBI टीम’ नेकृष्णावउसकेसाथियोंकेखिलाफवैज्ञानिकजांचकेबादमिलेसबूतोंकोनज़र-अंदाज़कियाऔरउन्हेंक्लीनचिटदेदी |

3. ‘कृष्णा’ केकमरेसेमिलीखुकरी,जोअसलीकातिलतकपहुँचनेमेंसहायकहोसकतीथी, उसको डीएनएविश्लेषणकेलिए CDFD नहींभेजा |

4. ‘दूसरी CBI टीम’ नेदुराग्रहपूर्णतरीकेसेतलवारदम्पतिकोनिर्दोषसाबितकरनेवालेतमामसबूत, जो ‘पहली CBI टीम’ नेहासिलकियेथे, कोदबानेकीकोशिशकी| CBI नेजानबूझकर ‘साउंडटेस्ट’ केबारेमेंक्लोज़ररिपोर्टमेंनहींलिखाऔरवैज्ञानिकपरीक्षणनिचलीअदालतमेंप्रस्तुतनहींकियेI

दोनों सीबीआईटीमोंकेबिलकुलविपरीतनिष्कर्षोंकेकारण, हमारीमांगहैकिएकस्वतंत्रवनिष्पक्षजांचकराईजाये |

यहआवश्यकहैकि .. जिनसबूतोंसेपताचलताहैकी ‘मातापिता’ निर्दोषहैं ... औरकृष्णाऔरउसकेसाथीदोषीहैं, उनसबूतोंसेछेड़छाड़नहोनेदीजाये |

‘CBI कीदूसरीटीम’ नेगलततथ्योंकेसाथमीडियाकोसूचितकिया, जिससेजनता केमनमें ‘तलवारदम्पति’ कीग़लतछविबनगई, साथहीअदालतोंकोगुमराहकिया |

चिंताजनकबातयहहैकि ‘तलवारदम्पति’ कीछविखराबकरनेकेइलावा वे 'आरुषिकेलिएन्याय' केमुख्यउद्देश्यसेभटकगएहैं |

आरुषिकोकभीशांतिनहीमिलेगीअगरउसकेमातापिताकोगलततरीकेसेफ़सायाजाएगा |

हमारे न्यायकेइसअभियानमेंइसयाचिकापरहस्ताक्षरकरके, आरुषिऔरहेमराजकीमददकरें |

अधिकजानकारीकेलिएवेबसाइटपरजाएँ | www.justiceforaarushitalwar.com

कृपयाहमारे Facebook Page मेंशामिलहों | https://www.facebook.com/#!/gatjustice

इसकेअलावा, Twitter परभीशामिलहों | @Justice4Aarushi